एक ही दिन में अरबों का नुकसान और अगले ही दिन दोगुनी कमाई कैसे कर लेते हैं अरबपति?

By शोभित शील
March 22, 2021, Updated on : Tue Mar 23 2021 06:34:40 GMT+0000
एक ही दिन में अरबों का नुकसान और अगले ही दिन दोगुनी कमाई कैसे कर लेते हैं अरबपति?
आपने अक्सर सुना होगा कि बाज़ार में कंपनियों के शेयरों के दाम बढ़ या घट रहे हैं, इस दशा में शेयरों के दाम बढ़ने पर मौजूदा शेयरधारकों को लाभ होता है, वहीं दाम कम होने पर शेयरधारकों को नुकसान भी होता है।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

बीते शुक्रवार एशिया के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी की संपत्ति में 3 अरब डॉलर (लगभग 22 हज़ार करोड़ रुपये) से अधिक का इजाफा हुआ है और इसी के साथ वो दुनिया के 10 सबसे अमीर शख्सियतों की लिस्ट में फिर से शामिल हो गए हैं। वहीं दुनिया के सबसे अमीर शख्स जेफ बेजोस की संपत्ति में 2.47 बिलियन डॉलर (लगभाग 17 हज़ार 9 सौ करोड़ रुपये) का इजाफा हुआ है। हमेशा चर्चा में बने रहने वाले बिजनेसमैन और दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स एलोन मस्क की संपत्ति में इस दौरान 388 मिलियन डॉलर (लगभग 28 सौ करोड़ रुपये) का इजाफा हुआ है, जबकि माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स को झटका लगा है। उनकी संपत्ति में 1.06 बिलियन डॉलर (7 हज़ार 680 करोड़ रुपये) की गिरावट दर्ज़ की गई है।


अब सवाल ये उठता है कि जब एक आम इंसान थोड़े से पैसे कमाने के इतनी मेहनत करता है और संपत्ति में जरा सा भी नुकसान उसे बुरी तरह प्रभावित कर देता है, फिर ये बिजनेसमैन एक ही दिन में हजारों करोड़ रुपये कैसे कमा लेते हैं और अगले ही दिन इन्हे हजारों करोड़ रुपयों का नुकसान भी होता है, लेकिन इन्हे जरा भी फर्क नहीं पड़ता है।


इसे समझने के लिए बस आपको थोड़ा मार्केट के बारे में समझना होगा।

कैसे काम करता है बाज़ार?

अमेज़न, टेस्ला या रिलायंस जैसी सभी बड़ी कंपनियाँ खुद को पब्लिक करती है यानी आईपीओ लाती है, तब वह अपने शेयर जारी कर देती है। इन शेयरों की संख्या काफी अधिक होती है और सभी शेयरों के लिए समान दाम होता है, जो घटता और बढ़ता रहता है। शेयर बाज़ार के जरिये लोग इन्ही शेयरों को खरीदते और बेंचते रहते हैं। यहाँ गौर करने वाली बात ये है कि किसी भी कंपनी के शेयरों का सबसे बड़ा हिस्सा आमतौर पर कंपनी के मालिक के पास ही होता है।

क

आपने अक्सर सुना होगा कि बाज़ार में कंपनियों के शेयरों के दाम बढ़ या घट रहे हैं, इस दशा में शेयरों के दाम बढ़ने पर मौजूदा शेयरधारकों को लाभ होता है, वहीं दाम कम होने पर शेयरधारकों को नुकसान भी होता है।


अब चूंकि कंपनी के सबसे अधिक शेयर आमतौर पर कंपनी के मुखिया के पास होते हैं तो उसे ही सबसे अधिक फायदा या नुकसान होता है।

कैसे घटते और बढ़ते हैं शेयरों के दाम?

बाज़ार में शेयर के दाम बढ़ने और घटने के लिए कई कारक जिम्मेदार होते हैं, जैसे उत्पाद की मांग में कमी या तेज़ी आना, प्राकृतिक आपदा के चलते कारोबार प्रभावित होना, राजनीतिक हलचल का कारोबार पर असर पड़ना या उसकी संभावना होना, इसी के साथ कई बार ये शेयर बाज़ार कच्चे तेल की कीमतों से भी प्रभावित होते हैं।


इसे ऐसे भी समझ सकते हैं कि जब टेस्ला के सीईओ एलोन मस्क कंपनी के संदर्भ में एक ट्वीट भी करते हैं तो ऐसे में ही उनकी कंपनी के शेयरों के दामों में बड़ा बदलाव देखने को मिलता है। इसे लेकर कई बार एलन मस्क को भी परेशानियों का सामना भी करना पड़ा है, जब उनके निवेशकों ने उन्हे इसी के चलते कानूनी लपेटे में ले लिया था।

कंपनी में हिस्सेदारी ही तय करती है संपत्ति

उदाहरण के तौर पर जेफ बेजोस के पास अमेज़न के 11.1 प्रतिशत शेयर यानी करीब 55.5 मिलियन शेयर हैं, जबकि एलोन मस्क के पास टेस्ला के 20.7 प्रतिशत यानी करीब 193.3 मिलियन शेयर हैं। खबर लिखते समय अमेज़न के एक शेयर की कीमत 3074.96 डॉलर है, जबकि टेस्ला के एक शेयर की कीमत 654.87 डॉलर है।


जब हम यह खबर लिख रहे हैं तब जेफ बेज़ोस की कुल संपत्ति 181 बिलियन डॉलर और एलोन मस्क की संपत्ति 170 बिलियन डॉलर है। जैसा हमने ऊपर बताया ये आंकड़े शेयर की कीमत पर निर्भर करते हैं और रोज़ बदलते रहते हैं। 


Edited by Ranjana Tripathi