रेलवे स्टेशनों पर लगे WiFi से कमाई करेगी रेलवे, जानिए कैसे...

By रविकांत पारीक
January 04, 2023, Updated on : Wed Jan 04 2023 09:46:20 GMT+0000
रेलवे स्टेशनों पर लगे WiFi से कमाई करेगी रेलवे, जानिए कैसे...
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) के संचार उपक्रम रेलटेल (RailTel) ने देशभर के 6,100 से अधिक रेलवे स्टेशनों पर लगी अपनी वाई-फाई (WiFi) परियोजना को बाजार पर चढ़ाने (Monetization) के लिए एक टेक फर्म के साथ करार किया है. रेलटेल ने बयान में कहा कि उसने मुंबई स्थित कंपनी थ्रीआई इन्फोटेक लिमिटेड (3i Infotech Ltd) की अगुवाई वाले एक गठजोड़ के साथ यह समझौता किया है. ग्लोबल इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी 3i Infotech के साथ यह करार 5 साल का है.


इस गठजोड़ में फॉरेंसिक्स इंटेलिजेंस सर्विलांस एंड सिक्योरिटी टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड (FISST) और येलो इंक (Yellow Inc) भी शामिल हैं.


इस समझौते के तहत रेलवे के एकीकृत सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क पर रेल यात्रियों के लिए लक्षित विज्ञापनों और मल्टी-मीडिया सूचना सेवा के जरिये राजस्व (रेवेन्यू) पैदा करने पर जोर रहेगा.


यह सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क के उपभोक्ताओं से राजस्व सृजन का पहला बहु-वर्षीय समझौता है. राजस्व का बड़ा हिस्सा विज्ञापनों से आएगा. पांच वर्षों में इससे करीब 250 करोड़ रुपये का राजस्व इकट्ठा होने की उम्मीद है.


रेलटेल का सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क अब पूरे भारत में 6,108 रेलवे स्टेशनों पर उपलब्ध है और प्रति दिन 1.1 मिलियन से अधिक अद्वितीय उपयोगकर्ता रिकॉर्ड करता है. बयान में कहा गया है कि इस सहयोगी सौदे के साथ, स्टेशन वाई-फाई उपयोगकर्ताओं को डिजिटल अनुभव विकसित करने के लिए तैयार है.

रेलवे की टिकटों से हुई कमाई में 71 प्रतिशत का इजाफा

अप्रैल से दिसंबर 2022 के दौरान प्रारंभिक आधार पर भारतीय रेल को यात्री किराए से कुल अनुमानित 48913 करोड़ रुपये की आय हुई है. सालाना आधार पर इसमें 71 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. पिछले साल की इसी अवधि में भारतीय रेल ने 28569 करोड़ रुपये अर्जित किए थे.


रिजर्व्ड पैसेंजर कोटे में, 1 अप्रैल से 31 दिसंबर 2022 की अवधि के दौरान बुक किए गए यात्रियों की कुल अनुमानित संख्या 59.61 करोड़ रही है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि के दौरान 56.05 करोड़ की तुलना में 6 प्रतिशत की बढ़ोतरी है.


1 अप्रैल से 31 दिसंबर 2022 की अवधि के दौरान रिजर्व्ड पैसेंजर कोटे से मिलने वाला राजस्व पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 26400 करोड़ रुपये की तुलना में 38483 करोड़ रुपये रहा है, जो कि 46 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्शाता है.


वहीं अनरिजर्व्ड पैसेंजर सेगमेंट में, 1 अप्रैल से 31 दिसंबर 2022 की अवधि के दौरान बुक किए गए यात्रियों की कुल अनुमानित संख्या पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 16968 लाख की तुलना में 40197 लाख है, जो 137 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाती है.

यह भी पढ़ें
पैसेंजर्स ने रेलवे की भरी तिजोरी, 71 फीसदी बढ़ी कमाई