जानिए कैसे आपकी टेबल पर घर का बना भोजन ला रहा है दालचीनी, मिनटों में यूं पूरी कर रहा है डिमांड

जानिए कैसे आपकी टेबल पर घर का बना भोजन ला रहा है दालचीनी, मिनटों में यूं पूरी कर रहा है डिमांड

Tuesday December 31, 2019,

9 min Read

प्रेरणा कालरा के लिए, अपने व्यस्त कार्यक्रम की बदौलत हर दिन ऑफिस के लिए घर का बना खाना ले जाना एक रोज की चुनौती थी।


k

प्रेरणा कालरा, दालचीनी की कॉ-फाउंडर




प्रेरणा कहती हैं,

“मुझे ब्रेकफास्ट या लंच तैयार करने के लिए मुश्किल से ही समय मिलता था, और मैं घर के ताजा भोजन के लिए तरस जाती थी। फूड डिलीवरी काफी थकाऊ और महंगी थी और उनका मेरी मीटिंग्स के साथ शेड्यूल भी नहीं बैठता था।”

चीन में अपनी एक वर्क विजिट के दौरान, उन्होंने कुछ ऐसी वेंडिंग मशीनें देखी, जिसमें फलों से लेकर मोमोज आदि तक- हर तरह के फ्रेश फूड आइटम रखे थे। इससे प्रेरित होकर प्रेरणा ने अगस्त 2017 में पेटीएम की उनकी सहकर्मी विद्या बी के साथ दालचीनी की शुरुआत की। दिल्ली स्थित स्टार्टअप अपने IoT- सक्षम phygital (फिजिकल और डिजिटल) वेंडिंग मशीन के माध्यम से प्रोफेशनल्स को जल्दी, सस्ता और स्वस्थ घर का भोजन उपलब्ध कराता है।


दिल्ली-एनसीआर में अप्रैल 2018 में दो स्मार्ट वेंडिंग मशीनों के साथ शुरू होकर, इसने शहर भर के ऑफिस स्पेसेस, हॉस्पिटल्स, हॉस्टल्स आदि में 140 से अधिक मशीनें स्थापित की हैं, जो तुरंत स्वस्थ और सस्ता घर का भोजन प्रदान करती हैं। अपनी स्थापना के बाद से, यह स्टार्टअप दावा करता है कि इसमें प्रति माह ऑर्डर संख्या में लगातार वृद्धि हुई है। इसे प्रति दिन 7,000 से अधिक ऑर्डर मिलते हैं, और महीने-दर-महीने 15 प्रतिशत से अधिक ग्रोथ हो रही है।


स्टार्टअप वर्तमान में दिल्ली-एनसीआर और चंडीगढ़ में मौजूद है, और इसका उद्देश्य पहले इन शहरों में अपने व्यवसाय का विस्तार करना है और बाद में नई उड़ान भरना है।

यह शुरू कैसे हुआ

चीन से लौटने के बाद, प्रेरणा ने इस पर शोध करना शुरू किया कि क्या भारत में फूड कियोस्क स्थापित करना संभव है। उन्होंने महसूस किया कि दिल्ली में 3,500 होम-टिफिन सर्विसेस के बावजूद, जागरूक उपभोक्ताओं को घर का खाना आसानी से उपलब्ध नहीं है। इन टिफिन सर्विसेस का लॉजिस्टिक इंफ्रास्ट्रक्चर बड़ी मांग को पूरा करने के लिए नहीं था।


वे कहती हैं,

“सस्ते वितरण चैनलों की उनकी कमी के चलते ग्राहक के लिए कीमतें दोगुनी हो जाती हैं। जहां ग्राहक रेस्तरां के भोजन के लिए इस अतिरिक्त लागत का भुगतान करने के लिए तैयार हैं, लेकिन वे घर के पके हुए भोजन के लिए ऐसा करने को तैयार नहीं हैं, जो उनकी दैनिक पोषण आवश्यकताओं को भी पूरा करता है।”


प्रेरणा कहती हैं,

"मैं स्पष्ट रूप से प्रत्येक डिलीवरी लागत पर 40 रुपये का अंतर और डिलीवरी के समय में 40 मिनट का अंतर देख सकती थी, जो ग्राहकों की दैनिक टिफिन जरूरतों की तलाश को देखते हुए स्वीकार्य नहीं था।"




फूड प्रोसेस

दालचीनी के लिए काम करने वाले होम-शेफ का एक टिपिकल दिन सुबह लगभग तीन बजे शुरू होता है। वे निर्धारित व्यंजनों और सामग्रियों के साथ दैनिक घर का भोजन तैयार करते हैं, और यह भी सुनिश्चित करते हैं कि यह खाद्य सुरक्षा मानकों को पूरा करता है जिसको लेकर उन्हें प्रशिक्षित भी किया गया है। इसके बाद तैयार किए गए भोजन को ठंडा किया जाता है, पैक किया जाता है और फिर संबंधित कियोस्क तक डिलीवरी फोर्स द्वारा बाइक और वैन के माध्यम से पहुंचाया जाता है।


प्रेरणा कहती हैं,

"हमारी डिलीवरी फोर्स दिन में दो बार - सुबह ब्रेकफास्ट से पहले और दोपहर में ग्राहकों की मांग को पूरा करने के लिए वेंडिंग मशीन को रिफिल करती है।"

दालचीनी का दावा है कि यह घर पर पकाए गए भोजन के लिए मांग-आपूर्ति के अंतर को पाट रहा है जो तुरंत उपलब्ध है और स्वस्थ है - एक ऐसा अंतर जिसे फूड डिलीवरी ऐप, टिफिन सेवाएं आदि पाटने में असमर्थ हैं।


दालचीनी के तुरंत खाने वाले फूड की कीमत 34 रुपये और मील कॉम्बो की कीमत 79 रुपये तक है। अन्य पैक किए गए स्नैक्स और पेय पदार्थ 10 रुपये से 99 रुपये में हैं। औसत ऑर्डर मूल्य लगभग 29 रुपये है। स्टार्टअप ने अर्थ वेंचर फंड और एक्स-पेटीएम, एक्स-टोकोपीडिया अमित लखोटिया, और एवरेस्ट फ्लेवर्स के एमडी, आनंद लाडसरिया जैसे कुछ एंजेल इन्वेस्टर्स से सीड राउंड में 3.5 करोड़ रुपये जुटाए हैं।

टेक संचालित व्यवसाय

प्रेरणा को शुरू से ही अच्छी तरह से पता था कि मानव रहित कियोस्क से ताजा भोजन एक तकनीकी और ऑपरेशन-गहन व्यवसाय दोनों होगा।


वे कहती हैं,

“मैंने आसपास के कुछ लोगों के साथ इस पर चर्चा शुरू की, और विद्या को आइडिया समझ आया। जैसा कि हम दोनों प्रोडक्ट, टेक्नोलॉजी और ऑपरेशन्स बैकग्राउंड से हैं, इसलिए हमें पता था कि हमें किसी ऐसे को अपने साथ लाना होगा जिसे फूड में विशेषज्ञता हो।”

टेक्नोलॉजी से अलग, वे यह भी जानते थे कि उन्हें एक मजबूत वितरण नेटवर्क का निर्माण करना था।


प्रेरणा कहती हैं,

''इसलिए, हमने दालचीनी को फुल-टाइम शुरू करने से पहले एक अच्छे बिजनेस डेवलपमेंट वाले व्यक्ति को अपने बोर्ड पर जोड़ा। स्टार्टअप में टीम के हिस्से के रूप में लगभग 150 लोग हैं।"


अगला कदम मानव रहित कियोस्क के लिए टेक और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) का निर्माण करना था। प्लेटफॉर्म अब ऐप, कियोस्क और सप्लाई चैन पर काम करता है। दालचीनी कियोस्क ऐप के माध्यम से, यूजर्स कियोस्क पर मेनू ब्राउज कर सकते हैं, मोबाइल वॉलेट्स के माध्यम से डिजिटल भुगतान कर सकते हैं और अपनी प्रतिक्रिया भी साझा कर सकते हैं। यूजर्स आस-पास की मशीनों की खोज कर सकते हैं, उन मशीनों में उपलब्ध प्रोडक्ट को ब्राउज कर सकते हैं, और ऐप के माध्यम से भुगतान करने के बाद उन्हें बुक कर सकते हैं। दालचीनी कियोस्क एक हीटिंग जोन के साथ भी आते हैं और 24*7 कैफे की तरह काम करते हैं।


प्रेरणा कहती हैं,

“हमारी टेक्नोलॉजी अगले दिन के लिए ऑर्डर प्रोजेक्शन से शुरू होती है। दालचीनी ने एक यूनीक सप्लाई चैन मॉडल भी बनाया है, जो होम-शेफ द्वारा समर्थित है, विशेष रूप से वेंडिंग मशीनों के लिए बनाए गए ताजा भोजन की आपूर्ति करने के लिए।”


जहां भारत में सॉफ्टवेयर और ऐप डेवलपर्स की कोई कमी नहीं है, ऐसे में एक अनुभवी IoT सलूशन डेवलपर को खोजना संस्थापक टीम के लिए बड़ी चुनौती थी। 


क

दालचीनी की वेंडिग मशीन

ताजा भोजन के लिए एक वेंडिंग मशीन

चूंकि पारंपरिक वेंडिंग मशीनों में केवल चिप्स, कोका कोला, कैंडी, कुकीज, केक, कॉफी और चॉकलेट जैसी चीजें होती हैं, इसलिए टीम को एक बड़ी ब्रेकथ्रो तकनीक की जरूरत थी जो इसे स्मार्ट वेंडिंग मशीन में बदल सके।


डिस्ट्रीब्यूशन फोर्स के लिए एक पार्टनर ऐप भी है जो रूट प्लान, उनके अगले पिकअप शेड्यूल आदि को लेकर उनकी समस्या निवारण का काम करता है। वेंडिंग मशीन की रिलयल टाइम इन्वेंट्री और स्टेट्स को उनके रीफिलिंग ऑपरेशन को कारगर बनाने के लिए IoT डिवाइस के माध्यम से ट्रैक किया जाता है।


प्रेरणा कहती हैं,

"हमारा ध्यान हमेशा इन कम्पोनेंट्स को गहन तकनीक से संचालित करने पर रहा है।"

होम शेफ टीम का निर्माण

अगली चुनौती होम-शेफ के रूप में आई।


वे कहती हैं,

“होम-शेफ के साथ काम करते हुए गुणवत्ता का पता लगाना सबसे बड़ी चुनौती थी। हमने घर पर रसोई को पेशेवर और प्रमाणित रसोई में बदलने के लिए सलाहकारों और खाद्य विशेषज्ञों के साथ अपनी खुद की चेकलिस्ट तैयार करना शुरू किया।"


और तब उन्हें अपनी पहली होम-शेफ नीता मिलीं। पचास वर्षीय नीता नोएडा में 25 साल से अधिक समय से टिफिन सेवाएं दे रही थीं, लेकिन उनके पास उचित एफएसएसएआई लाइसेंस नहीं था, या वह इससे अनजान थीं।


प्रेरणा बताती हैं,

“हमने उन्हें सभी लाइसेंस प्राप्त करने में मदद की, उनकी रसोई का ऑडिट कराया और पूरी तरह से तैयार किया। वे अभी भी हमारे आपूर्तिकर्ताओं में से एक के रूप में हर दिन तीन से चार वेंडिंग मशीनों के लिए पूरा करते हैं। यह किसी होम-शेफ को बोर्ड पर लाने के लिए हमारी बाइबल और नियम-पुस्तक बन गई है।”


बाद में, उन्होंने 15 और ऐसे क्लाउड किचन को ऑनबोर्ड किया, जिनमें से प्रत्येक 8-20 वेंडिंग मशीनों की आपूर्ति करता है, और इसके लिए भी उसी चेकलिस्ट का पालन किया गया था।


वह कहती हैं,

"अब हमारे पास इन होम-शेफ के साथ मदद करने के लिए एक ऑडिटर है।"


स्टार्टअप ने इस साल अक्टूबर में चंडीगढ़ में भी अपना ऑपरेशन शुरू किया है।

क्लाउड किचन को बढ़ाना

आठ से 20 वेंडिंग मशीनों के लिए तीन से चार होम शेफ की आवश्यकता को पूरा करने के लिए, दालचीनी के दिल्ली में 16 क्लाउड किचन हैं, जिनमें से नौ महिला उद्यमियों द्वारा चलाए जा रहे हैं।


वे कहती हैं,

“ये पहले टिफिन सर्विसेस थीं, अपने घर की रसोई से प्रतिदिन 15-50 टिफिन परोसती थीं। हमने उनकी मदद की, और अब वे 200 से अधिक युनिट्स को सप्लाई कर रहे हैं।”


प्रेरणा कहती हैं,

“हमारी टीम किसी को जोड़ने से पहले कम से कम पाँच बार रसोई का दौरा करती है। एक निर्धारित चेकलिस्ट सबसे पहले हमारी टीम द्वारा प्रस्तुत की जाती है, जिसके बाद हम इन होम-शेफ को उन क्षेत्रों में मदद करते हैं जहां उन्हें पूरी तरह से आज्ञाकारी बनने के लिए मदद की आवश्यकता होती है। हमारे कुछ साथियों ने प्रतिदिन 1,000 रुपये से लेकर 10,000 रुपये प्रति दिन तक की वृद्धि की है।”


पार्टनर्स को टिफिन सर्विसेस पर जाने वाले व्यक्ति द्वारा भरी गई विस्तृत चेकलिस्ट के आधार पर सूचीबद्ध किया गया है। उसके बाद उन्हें चेकलिस्ट के स्कोर के आधार पर चुना जाता है। यदि किसी पार्टनर के पास उचित FSSAI लाइसेंस नहीं है, और नियामक मानदंडों का पालन नहीं करता है, तो हम उन्हें कुछ पेशेवर एजेंसियों के माध्यम से प्राप्त करने में मार्गदर्शन करते हैं।

मानदंड यह है कि रसोई साफ और स्वच्छ होनी चाहिए, और इसे एक पेशेवर शेफ या महिला उद्यमियों द्वारा चलाया जाना चाहिए।


वे आगे कहती हैं,

“हमारे नियमित प्रशिक्षण में उनके उद्यमशीलता कौशल में सुधार करना भी शामिल है, जो उन्हें दालचीनी के बाहर अपने व्यवसाय में मदद करेगा। वे अपव्यय कम करना और अपने मार्जिन में सुधार करना सीखते हैं। उनके कॉन्फीडेंस को बढ़ावा देने के लिए हम पेशेवर प्रशिक्षण में उनकी मदद करते हैं।"


दालचीनी अब अगले ढाई वर्षों में 6,000 से अधिक वेंडिंग मशीन लगाने की ओर देख रहा है।