मिलें देश की सबसे युवा डॉक्टर-पायलट से, जिनके नाम पर दर्ज़ है ये विश्व रिकॉर्ड

तरनज्योत कैन्थ आज एक डॉक्टर होने के साथ ही एयरलाइन कैप्टन भी हैं और उनके नाम पर देश की सबसे युवा महिला डॉक्टर-पायलट होने का रिकॉर्ड भी दर्ज़ है।

मिलें देश की सबसे युवा डॉक्टर-पायलट से, जिनके नाम पर दर्ज़ है ये विश्व रिकॉर्ड

Tuesday December 28, 2021,

3 min Read

भारत देश में हमेशा से ही इंजीनियरिंग और मेडिकल को सम्मानजनक प्रोफेशन के तौर पर देखा जाता रहा है। शुरुआती उम्र में बच्चे पायलट बनने के सपने भी देखते हैं हालांकि कोर्स की अधिक फीस के चलते बहुत कम संख्या में ही ये बच्चे आगे चलकर अपने इस सपने को पूरा कर पाते हैं। आज हम यहाँ ऐसी शख्स के बारे में बात कर रहे हैं जो पहले मेडिकल की पढ़ाई पूरी कर डॉक्टर बनीं लेकिन उन्होने अपने पायलट बनने के सपने को भी पूरा किया।


तरनज्योत कैन्थ आज एक डॉक्टर होने के साथ ही एयरलाइन कैप्टन भी हैं और उनके नाम पर देश की सबसे युवा महिला डॉक्टर-पायलट होने का रिकॉर्ड भी दर्ज़ है। तरनज्योत के पिता खुद भी एक डॉक्टर हैं और वे भी बचपन में अपने पिता के पदचिन्हों पर चलते हुए आगे बढ़ना चाहती थीं।


तरनज्योत ने अपनी मेडिकल प्रवेश परीक्षा पास की और दिल्ली के मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी की। तरनज्योत जब डॉक्टर बन गईं तब भी उनके उनके द्वारा बचपन में देखे गए पायलट होने का सपना बार-बार उन्हें परेशान कर रहा था और वे इसे पूरा करना चाहती थीं। एक 6 साल के बेटे की माँ तरनज्योत ने तभी तय किया कि वे अपने पैशन को फॉलो करेंगी और पायलट बनेंगी।

क

फोटो साभार : Instagram

अपने नाम किया रिकॉर्ड

2010 में उन्होने सबसे कम उम्र की डॉक्टर पायलट बन द लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज़ करवाया था। तरनज्योत मानती हैं कि उनके लिए यह सब कर पाना इसलिए संभव हो सका क्योंकि उनके पास एक सहायक परिवार है जिसने हमेशा उन्हें जीवन की सभी मुश्किलों के खिलाफ खड़े होने और स्वतंत्र होकर हमेशा खुद पर विश्वास करने के लिए समर्थन दिया है।


41 वर्षीय तरनज्योत के अनुसार उन्हें उनके घर पर बिना शर्त समर्थन मिला और इसने उन्हें अपने पेशेवर और व्यक्तिगत जीवन को संतुलित करने में अहम भूमिका निभाई है। 13 नवंबर 2021 को तरनज्योत को फेस ऑफ नॉर्थ- मिसेज इंडिया प्राइड ऑफ नेशन रेविशिंग 2021 का ताज पहनाया गया। अपने एक इंटरव्यू में उन्होने बताया है कि जिस क्षण उन्हें ताज पहनाया गया वह लम्हा वे कभी नहीं भूल सकती हैं।

k

महिलाओं के लिए संदेश

अन्य महिलाओं को संदेश देते हुए तरनज्योत कहती हैं कि 'वे अपनी उपलब्धियों को आज की महिलाओं की ताकत और महिलाओं के लिए उपलब्ध अवसरों का प्रमाण मानती हैं। अगर कोई महिला अपने जीवन में कोई लक्ष्य पाना चाहती है, तो वह कड़ी मेहनत के दम पर उसे हासिल कर सकती है।'


तरनज्योत के अनुसार सुंदरता महज त्वचा के रंग तक सीमित नहीं है बल्कि इसमें  बुद्धि, शिष्टता, आधुनिकता, परंपरा और आत्मविश्वास भी शामिल है।


तरनज्योत साथ ही कहती हैं कि 'आपके पास एक ही जीवन है और ऐसे में आप उसका पूर्ण इस्तेमाल ना कर पछतावे की तरफ नहीं जाना चाहेंगे, ऐसे में लोगों को अपने सपनों को पूरा करने की बेजोड़ कोशिश करनी चाहिए।'


Edited by Ranjana Tripathi