Microsoft की इस सर्विस में मिलेगा खुद से लेख लिखने वाला ChatGPT, अब Google का मास्टर प्लान?

ChatGPT आपके लिए निबंध, यूट्यूब वीडियो की स्क्रिप्ट, कवर लेटर, बायोग्राफी, छुट्टी की एप्लीकेशन आदि लिख सकता है. इसे OpenAI स्टार्टअप द्वारा डेवलप किया गया है. यह आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) पर काम करने वाला नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग टूल है.

Microsoft की इस सर्विस में मिलेगा खुद से लेख लिखने वाला ChatGPT, अब Google का मास्टर प्लान?

Tuesday January 17, 2023,

5 min Read

टेक्नोलॉजी की दुनिया में ChatGPT (Generative Pre-trained Transformer) अभी सबसे फेमस AI टूल है. इसे OpenAI स्टार्टअप द्वारा डेवलप किया गया है. यह आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) पर काम करने वाला नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग टूल लगभग सभी सवालों के जवाब दे सकता है. यानी कि ये एक नया वर्चुअल एनसाइक्लोपीडिया है.

इसे बीते साल 2022 में 30 नवंबर को लॉन्च किया गया था. इसकी आधिकारिक वेबसाइट chat.openai.com है.

इसे सरल भाषा में कहें तो, यह एक ऐसा डीप मशीन लर्निंग बेस्ड चैट बॉट है, जो आपके द्वारा पूछे गए सवालों के लगभग सटीक उत्तर देता है.

कंपनी का कहना है कि यह हमारे प्रश्नों का उत्तर दे सकता है, अपनी गलतियां मान सकता है. इसके अलावा यह अनुमान भी लगा सकता है कि उससे पूछा जाने वाला अगला सवाल क्या होगा? इतना ही नहीं GPT उन अनुरोधों को अस्वीकार भी कर सकता है, जो उसे सही नहीं लगते हैं.

दुनियाभर के कई नामचीन विशेषज्ञों द्वारा यह तक कहा जा रहा है कि आने वाले भविष्य में ChatGPT दिग्गज टेक कंपनी Google तक को टक्कर दे सकता है.

जब आप Google पर किसी भी चीज को सर्च करते हैं तो यह आपको उस चीज से संबंधित कई वेबसाइट दिखाता है. लेकिन ChatGPT बिल्कुल अलग तरीके से काम करता है. यहां पर आप जब कोई सवाल सर्च करते हैं तो ChatGPT उस सवाल का डायरेक्ट जवाब आपको दिखाता है. ChatGPT आपके लिए निबंध, यूट्यूब वीडियो की स्क्रिप्ट, कवर लेटर, बायोग्राफी, छुट्टी की एप्लीकेशन आदि लिख सकता है.

Sam Altman नाम के एक शख्स ने एलन मस्क (Elon Musk) के साथ मिलकर के साल 2015 में ChatGPT को शुरू किया था. हालांकि जब इसकी शुरुआत की गई थी तभी यह एक नॉन-प्रॉफिट कंपनी थी लेकिन बाद में एलन मस्क ने इस प्रोजेक्ट को बीच में ही छोड़ दिया.

इसके बाद माइक्रोसॉफ्ट ने इसमें खूब पैसा लगाया और 30 नवंबर, 2022 को प्रोटोटाइप के तौर पर इसे लॉन्च किया गया.

microsoft-ceo-satya-nadella-chatgpt-azure-openai-service-google-deepmind-sparrow

माइक्रोसॉफ्ट Azure में जोड़ेगा ChatGPT

अब हाल ही में, Microsoft ने कहा कि वह निकट भविष्य में ChatGPT को अपनी क्लाउड-बेस्ड Azure सर्विस में जोड़ेगा. सॉफ्टवेयर सेक्टर की दिग्गज कंपनी ने अपनी Azure OpenAI सर्विस की 'सामान्य उपलब्धता' की भी घोषणा की, जो ग्राहकों को अपने खुद के एप्लीकेशन में उपयोग के लिए अलग-अलग AI टूल्स तक एक्सेस मुहैया करती है.

यह ख़बर ऐसे वक्त में आई है जब कंपनी 2019 में पहले से ही घोषित OpenAI में 1 बिलियन डॉलर का निवेश और करना चाह रही है.

Microsoft के सीईओ सत्या नडेला ने मंगलवार सुबह ट्वीट किया, "ChatGPT जल्द ही Azure OpenAI Service में आ रहा है, जो अब आम तौर पर उपलब्ध है, क्योंकि हम ग्राहकों को दुनिया के सबसे एडवांस AI मॉडल को अपनी व्यावसायिक अनिवार्यता के लिए लागू करने में मदद कर रहे हैं."

गूगल का मास्टर प्लान?

Google अब ChatGPT को टक्कर दे सकती है. हालांकि, कंपनी ने OpenAI के इस सफल प्रोडक्ट से पहले ही LaMDA और Flamingo जैसे संवाद के लिए अनुकूलित बड़े लैंग्वेज मॉडल दिखाए हैं. Meena नाम से, Google ने पहले ही एक चैटबॉट तैयार किया था, जो 2020 के अंत तक मनुष्यों के साथ विश्वसनीय बातचीत कर सकता था.

अब तक, कंपनी ने अपनी रिसर्च से कोई प्रोडक्ट नहीं बनाया है.

लेकिन ChatGPT और विशेष रूप से Microsoft की OpenAI के प्रसार में बड़ी भागीदारी Google पर दबाव डाल रही है. कंपनी को कम से कम यह साबित करना होगा कि वह OpenAI को कंट्रोल में रख सकती है या उससे आगे निकल सकती है. आखिरकार, टेक्नोलॉजी एक रेस ही तो है.

DeepMind, जोकि एक कैटेगरी-किंग AI कंपनी है, जिसे Google की पैरेंट कंपनी Alphabet ने कुछ साल पहले खरीद लिया था, और जिसे गेम खेलने और बेहतरीन गेमर्स को मात देने के लिए जाना जाता है, के फाउंडर और सीईओ डेमिस हासाबिस का कहना है कि DeepMind का चैटबॉट Sparrow इस साल के अंत में "प्राइवेट बीटा" में चला जाएगा. कंपनी ऐसी टेक्नोलॉजी डेवलप करती रही है जिसे Google अपने कंज्यूमर्स के लिए प्रोडक्ट्स में इंटीग्रेट करती है.

DeepMind ने सितंबर 2022 में Sparrow को लॉन्च किया. ChatGPT की तरह, चैटबॉट को मानव प्रतिक्रिया के साथ प्रशिक्षित किया जाता है, जो DeepMind का कहना है कि यह अधिक सहायक, सटीक और हानिरहित है. इसके अलावा, Sparrow की Google के माध्यम से इंटरनेट तक पहुंच होगी, जिससे वह अप-टू-डेट जानकारी को अपनी प्रतिक्रियाओं में एकीकृत कर सकेगा.

Sparrow डीपमाइंड के चिनचिला (Chinchilla) लैंग्वेज मॉडल पर आधारित है, जिसमें OpenAI के सबसे बड़े मॉडल की तुलना में कम पैरामीटर हैं - लेकिन इसे बहुत अधिक डेटा के साथ प्रशिक्षित किया गया है. Chinchilla लैंग्वेज मॉडल, जिसे अप्रैल 2022 में लॉन्च किया गया था, कॉमन लैंग्वेंज बेंचमार्क में GPT-3 से बेहतर काम करता है. हालाँकि, ChatGPT अधिक एडवांस GPT वर्जन 3.5 पर आधारित है.

अब यह देखना होगा कि Sparrow ChatGPT की तुलना में कैसे काम करेगा. हालांकि Google के पास PaLM जैसे अधिक पावरफुल लैंग्वेज मॉडल भी होंगे.