IPO से पहले Swiggy बंद करेगी क्लाउड किचन बिजनेस, स्टाफ की छुट्टी?

स्विगी के किचन इंफ्रास्ट्रक्चर बिजनेस बंद करने की ख़बर सामने आने के बाद अब सवाल उठता है कि उन कर्मचारियों का क्या होगा जो यहां नौकरी कर रहे थे? क्या उन्हें निकाल दिया जाएगा? या फिर...

IPO से पहले Swiggy बंद करेगी क्लाउड किचन बिजनेस, स्टाफ की छुट्टी?

Wednesday February 15, 2023,

3 min Read

घर-घर खाना पहुंचाने वाली कंपनी स्विगी (Swiggy) कथित तौर पर अपने किचन इंफ्रास्ट्रक्चर बिजनेस (kitchen infrastructure business) स्विगी एक्सेस (Swiggy Access) को बंद करने की तैयारी कर रही है. कंपनी IPO (initial public offering) लाने की तैयारी में है.

किचन इन्फ्रास्ट्रक्चर बिजनेस, जिसे करीब पांच साल पहले लॉन्च किया गया था, रेस्तरां के लिए अपने क्लाउड किचन (cloud kitchens) तैयार करने के लिए एक किचन-एज-ए-सर्विस (kitchen-as-a-service) प्रोडक्ट मुहैया करता है.

ईटी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि स्विगी अपने किचन इंफ्रास्ट्रक्चर बिजनेस को क्लाउड किचन कंपनी Kitchens@ को बेचने की तैयारी में है. माना जा रहा है कि यह सौदा एक शेयर अदला-बदली सौदा है, जिसमें Kitchens@ का मूल्य 40 मिलियन डॉलर और Swiggy Access का मूल्य 10 मिलियन डॉलर है. सौदे में स्विगी के कुछ प्रािवेट लेबल भी कुछ स्थानों पर Kitchens@ के ग्राहक बन सकते हैं.

इसके अलावा, योजना के साथ आगे बढ़ते हुए, स्विगी ने किचन इंफ्रास्ट्रक्चर बिजनेस को लगभग 200 स्थानों से कम करके 30-35 तक वापस लाने का फैसला किया है.

जबकि योजना और मॉडल के मामले में किचन इंफ्रास्ट्रक्चर बिजनेस मजबूत था, ऐसा लगता है कि स्विगी बिजनेस के साथ कुछ प्रमुख समस्याओं - रियल एस्टेट और श्रम को हल करने में असमर्थ रही है. ईटी के सूत्रों के अनुसार, अपने चरम पर, इस सेगमेंट में फूडटेक प्रमुख 3-5 मिलियन डॉलर प्रति माह का नुकसान झेल रहा था.

online-food-delivery-platform-swiggy-to-shut-cloud-kitchen-infrastructure-business-swiggy-access-before-ipo

वहीं, Zomato ने भी 2018 में Kitchens@ में निवेश किया था और जुलाई 2021 में अपने आईपीओ से पहले 2020 में वर्टिकल को पूरी तरह से बंद करने से पहले स्टार्टअप के माध्यम से अपना किचन-एज-ए-सर्विस बिजनेस चला रहा था.

हाल ही में खबर ये आई कि जोमैटो ने लगभग 225 शहरों में अपना बिजनेस बंद कर दिया है.

बता दें कि 2015 में स्थापित, Kitchens@ को BEENEXT जैसे निवेशकों का समर्थन मिला हुआ है और 20 शहरों में लगभग 100 स्थानों में 1,000 किचन होने का दावा करता है. यह देश के विभिन्न व्यंजनों में अपने स्वयं के कई प्राइवेट लेबल भी चलाता है.

वेबसाइट के अनुसार, Kitchens@ ने Subway, Domino’s Pizza, Wow! Momo, Chai Point, Chaayos और Mainland China, जैसी इंटरनेशनल फूड चेन और नेशनल फूडटेक स्टार्टअप्स के साथ पार्टनरशिप कर रखी है.

Entrackr की एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्विगी भी इस साल सितंबर तक सार्वजनिक बाजारों में उतरने की तैयारी कर रही है. हालाँकि, शेयर बाजार में Zomato के खराब प्रदर्शन को देखते हुए, यह टाइमलाइन अपेक्षा से अधिक लंबी हो सकती है.

हालाँकि, भले ही स्विगी ने कहा है कि इसने अपने क्लाउड किचन और प्राइवेट लेबल बिजनेस को दोगुना कर दिया है, YourStory ने पिछले साल नवंबर में बताया कि फूडटेक कंपनी ने दिल्ली-एनसीआर में द बाउल कंपनी (The Bowl Company) जैसी अपनी क्लाउड किचन (Cloud Kitchen) आउटलेट्स को बंद कर दिया है..

इसके अलावा, आईपीओ से पहले लागत में कटौती के अपने अभियान को लाभदायक बनाने के लिए, स्विगी ने इस साल की शुरुआत में 380 कर्मचारियों को भी निकाल दिया है.

हालाँकि, कंपनी ने वित्त वर्ष 22 में 3,628.9 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा बताया है. यह वित्त वर्ष 21 में 1,616.9 करोड़ रुपये की तुलना में 2.2 गुना अधिक है. स्विगी का कुल रेवेन्यू वित्त वर्ष 22 में 2.2 गुना बढ़कर 6,119.8 करोड़ रुपये हो गया, जो वित्त वर्ष 21 में 2,675.9 करोड़ रुपये था, जबकि वित्त वर्ष 22 में इसका खर्च 131% बढ़कर 9,574.5 करोड़ रुपये हो गया, जो वित्त वर्ष 21 में 4,139.4 करोड़ रुपये था.

स्विगी के किचन इंफ्रास्ट्रक्चर बिजनेस बंद करने की ख़बर सामने आने के बाद अब सवाल उठता है कि उन कर्मचारियों का क्या होगा जो यहां नौकरी कर रहे थे? क्या उन्हें निकाल दिया जाएगा? या फिर...