Oracle ने चलाई नौकरियों पर कैंची, इस साल भारत में जा चुकी हैं 12000 टेक एम्पलॉइज की जॉब

By रविकांत पारीक
August 02, 2022, Updated on : Tue Aug 02 2022 10:50:05 GMT+0000
Oracle ने चलाई नौकरियों पर कैंची, इस साल भारत में जा चुकी हैं 12000 टेक एम्पलॉइज की जॉब
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

ओरेकल कॉर्पोरेशन (Oracle Corporation) ने अमेरिका में कर्मचारियों की छंटनी शुरू कर दी है. न्यूज़ ऐजेंसी रॉयटर्स ने सुत्रों के हवाले से इसकी जानकारी दी है. इस साल जुलाई तक अमेरिका में 32,000 से अधिक तकनीकी कर्मचारियों (tech workers) की छंटनी की जा चुकी है. इसमें माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) और मेटा (Meta) (पूर्व में फेसबुक - Facebook) जैसी बड़ी टेक कंपनियां शामिल हैं.


जुलाई में ऐजेंसी ने बताया कि ओरेकल अपनी ग्लोबल वर्कफोर्स में 1 बिलियन डॉलर तक की कोस्ट कटिंग पर विचार कर रही है. इसके सीधे मायने हैं कि हजारों कर्मचारियों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ेगा .


कंपनी की ताजा एनुअल रिपोर्ट के अनुसार, 31 मई तक कंपनी में लगभग 143,000 फुल-टाइम एम्पलॉई थे.


ऐजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, ओरेकल के सैन फ्रांसिस्को बे एरिया (San Francisco Bay Area) ऑफिस में जॉब करने वाले कर्मचारियों की छंटनी होगी. हालांकि, रिपोर्ट में कर्मचारियों की संख्या का उल्लेख नहीं किया गया है.


ओरेकल ने इस बारे में अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है.


रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि आने वाले हफ्तों और महीनों में कनाडा, भारत और यूरोप के कुछ हिस्सों में छंटनी की उम्मीद है.


गौरतलब हो कि टेक सेक्टर की दिग्गज कंपनियां जैसे — माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन (Microsoft Corporation), अल्फाबेट इंक (Alphabet Inc) और ऐप्पल इंक (Apple Inc) ने भी बढ़ती लागत और मंदी की आशंकाओं का हवाला देते हुए हायरिंग रोक दी है.

क्रंचबेस के आंकड़ों के अनुसार, जुलाई के अंत तक, अमेरिकी टेक सेक्टर में 32,000 से अधिक कर्मचारियों की छंटनी की गई है.


एनालिसिस में स्टार्टअप और पब्लिक सेक्टर, दोनों कंपनियों को शामिल किया गया है जो अमेरिका में स्थित हैं. इसके अलावा उन कंपनियों को भी इसमें शामिल किया है, जिनकी अमेरिका में एक बड़ी टीम है, जैसे कि Klarna.


छंटनी में राइड-शेयरिंग प्लेटफॉर्म Uber, Netflix और कई क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज और लेंडिंग प्लेटफॉर्म शामिल हैं. Robinhood, Glossier और Better कुछ ऐसी टेक कंपनियां हैं जिन्होंने इस साल अपने कर्मचारियों की संख्या में कटौती की है.


layoffs.fyi के आंकड़ों के अनुसार, इस साल 1 अप्रैल से, दुनिया भर में 342 टेक कंपनियों / स्टार्टअप्स के 43,000 से अधिक कर्मचारियों को अपनी नौकरियों से निकाल दिया गया है. इसमें 13 प्रतिशत से अधिक भारत से हैं.


वहीं, भारत में बीते 6 महीनों में 25 स्टार्टअप में अब तक मोटे तौर लगभग 12 हजार कर्मचारी अपनी नौकरी से हाथ धो चुके हैं. ये आंकड़े बेहद निराशाजनक है. ये कर्मचारियों की छंटनी की स्थिति अलार्मिंग है. साल खत्म होते-होते यह संख्या 60 हजार के पार पहुंच सकती हैं. Ola, Blinkit, Byju's, Unacademy, Vedantu, Cars24, Mobile Premier League - MPL, Lido Learning, Mfine, Trell, farEye, Furlanco समेत कई ऐसे स्टार्टअप हैं जिनके कर्मचारी अपनी नौकरियां खो चुके हैं/सकते हैं.


हाल ही में, बीते माह के आखिरी हफ्ते में ख़बर आई कि अर्बन मोबिलिटी फर्म Ola करीब 1,000 कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की तैयारी कर रही है. कंपनी ने इसे रिस्ट्रक्चरिंग प्रोसेस बताया है, जिसके कुछ और हफ्तों तक चलने की उम्मीद है. इसके साथ ही कंपनी इलेक्ट्रिक मोबिलिटी बिजनेस (electric mobility busines) बढ़ाने के लिए नई हायरिंग करेगी.