पेटीएम मनी ने 10 रुपए प्रति ऑर्डर पर लॉन्च किया फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस ट्रेडिंग फीचर

By Ranjana Tripathi|13th Jan 2021
अब पेटीएम मनी से करें फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस में ट्रेडिंग, हर ऑर्डर पर 10 रुपए ब्रोकरेज चार्ज
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

"पेटीएम की सहयोगी कंपनी पेटीएम मनी पर यूज़र्स शेयर मार्केट में स्टॉक्स, म्यूचुअल फंड्स, ईटीएफ, IPO, NPS और डिजिटल गोल्ड के साथ अब फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस की ट्रेडिंग भी कर सकेंगे। पेटीएम मनी ने अपने प्लेटफॉर्म पर फ्यूचर्स और ऑप्शंस में निवेश की सुविधा लॉन्च कर दी है। ट्रेडिंग करने पर पेटीम मनी हर ऑर्डर के लिए 10 रुपये ब्रोकरेज चार्ज वसूलेगा।"

k

पेटीएम मनी ने बुधवार को रीइमेजिन वेल्थ क्रिएशन नाम से आयोजित एक ऑनलाइन इवेंट में अपने प्लेटफॉर्म पर फ्यूचर्स और ऑप्शंस में निवेश की सुविधा लॉन्च कर दी है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में पेटीएम मनी के सीईओ वरुण श्रीधर ने कहा कि इसके फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस ट्रेडिंग फीचर को दो सप्ताह में रोल आउट कर दिया जाएगा, साथ ही उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि स्टार्टअप की हाल-फिलहाल क्रिप्टो-ट्रेडिंग शुरू करने की कोई योजना नहीं है। इवेंट में पेटीएम मनी के सीईओ वरुण श्रीधर के साथ पेटीएम मनी के फाउंडर विजय शेखर शर्मा भी मौजूद थे।


पेटीएम मनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, वरुण श्रीधर ने कहा कि अभी शुरुआत में प्लेटफ़ॉर्म 500 सदस्यों को एक्सेस देगा। पूरे संस्करण को दो सप्ताह के भीतर पेटीएम मनी के सभी उपयोगकर्ताओं के लिए रोल आउट कर दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पेटीएम मनी द्वारा लिया जाने वाला यह शुल्क ग्राहकों को अन्य प्लेटफॉर्म्स की तुलना में काफी कम पडे़गा।


इस ऑनलाइन इवेंट में श्रीधर ने पेटीएम मनी एप पर उपलब्ध अलग-अलग तरह के निवेश उत्पादों के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आज से भारत में ट्रेडिंग बदल गई है। हमने एक बेहद ही मुश्किल प्रक्रिया को यूज़र्स के लिए आसान बना दिया है। पेटीएम मनी पर अकाउंट खोलना पूरी तरह डिजिटल है, जो आप घर बैठे कर भी सकते हैं। पेटीएम की टेक्नोलॉजी टीम ने इस प्रोसेस को तेज़ कर दिया है।


प्लेटफ़ॉर्म उपयोग में आसानी और यूज़र्स को दी जाने वाली डेरिवेटिव ट्रेडिंग सुविधा पर जोर देते हुए वरुण ने कहा,

"हमारा ऐप अल्ट्रा-एचएनआई के लिए खानपान का उद्देश्य नहीं है, जिनके पास दस लोगों की टीम है और जो उन्हें सलाह दे रहे हैं, साथ ही जो हर दिन 5000 ट्रेड करते हैं। हमने ऐप को मध्यवर्गीय भारत के लिए बनाया है और सुनिश्चित किया है कि समझने के लिए यह बेहद ही आसान रहे।"


प्रत्येक नए F&O ट्रेड में उपयोगकर्ताओं को 10 रुपये का खर्च आएगा, जो कि पेटीएम का दावा है कि यह आज के समय में भारत में पेश की जाने वाली सबसे कम दर है। अगले 18 से 24 महीने में प्रतिदिन के हिसाब से स्टार्टअप का लक्ष्य 1.5 लाख करोड़ के टर्नओवर और हर रोज 10 लाख ट्रेड प्राप्त करना है।


डेरिवेटिव्स ट्रेडिंग एक ऐसा उपकरण है जो आमतौर पर निवेश की स्थिति को सुधारने के लिए उपयोग किया जाता है, साथ ही जोखिमों का प्रबंधन भी करता है। यह बाजार में लेनदेन की लागत को कम करने में भी मदद करता है।


विशेष रूप से बिटकॉइन के साथ पिछले कुछ महीनों में रिकॉर्ड ऊँचाई को देखते हुए यूज़र्स ने वरुण और पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा से पूछा, कि क्या कंपनी प्लेटफ़ॉर्म पर क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग शुरू करने की योजना बना रही है?


इस पर वरुण ने स्पष्ट किया कि स्टार्टअप की अभी क्रिप्टो-ट्रेडिंग शुरू करने की कोई योजना नहीं है, जिसकी वजह है कि आरबीआई और सेबी ने स्पष्ट नीतियों को एक-एक क्रिप्टोकरेंसी के लिए निर्धारित नहीं किया है। उन्होंने कहा कि पेटीएम नियामकों (regulators) के साथ क्रिप्टो पर चर्चा कर रहा था।


उन्होंने कहा,

"जिस दिन भारत का नियामक निरीक्षण होगा, जहां आपके पैसे की सुरक्षा होगी, हम क्रिप्टो-ट्रेडिंग शुरू करने के बारे में भी सोच सकते हैं।"

आपको बता दें, कि कुछ समय बाद कंपनी इसी साल सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (sovereign gold bonds) भी लॉन्च करना चाहती है।

यूजर्स को मिलने वाली सुविधाएं

-ऑर्डर को ट्रैक करने की सुविधा को बहुत ही आसान बनाया गया है।

-किसी भी कॉन्ट्रैक्ट और ऑप्शन को सर्च करने के लिए यूज़र्स को खास सुविधा दी गई है।

-पेटीएम मनी के चार्ट में यूजर्स को मिलेंगे 180 स्टडीज और पैटर्न।

-इसका प्राइस अलर्ट फीचर किसी भी फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस कॉन्ट्रैक्ट का प्राइस रियल टाइम में मुहैया कराएगा।

-यूज़र्स को मिलेंगे कई तरह के कैलकुलेटर, जिसकी मदद से वे कर सकेंगे ट्रेंडिंग के मार्जिन यानी कि प्रॉफिट का सही सही आकलन।

-अपने कॉन्ट्रैक्ट को विशलिस्ट में डालने के लिए यूजर्स को नहीं जाना होगा किसी खास टेम्पलेट पर।

-प्लेटफॉर्म पर फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस में ट्रेडिंग को फास्ट करने के लिए मॉर्डर्न टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है।


गौरतलब है, इसकी सार्वजनिक लॉन्चिंग अगले दो हफ्तों में होगी, इसलिए अभी फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस में ट्रेडिंग का अर्ली एक्सेस केवल 500 यूजर्स को ही मिलेगा। साथ ही देखने वाली बात यह है कि फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस की ट्रेडिंग पर प्रति ऑर्डर सिर्फ 10 रुपए ब्रोकरेज चार्ज वसूलने के कारण निवेशकों के बीच जेरोधा जैसी लोकप्रिय कंपनियों को भी टक्कर मिल सकती है।

Latest

Updates from around the world