कहानी पॉलिकैब की: छोटे हार्डवेयर स्टोर से, इस उद्यमी और उसके भाइयों ने खड़ा किया 7,985 करोड़ रुपये का कारोबार

By Rishabh Mansur
March 09, 2020, Updated on : Mon Mar 09 2020 08:31:30 GMT+0000
कहानी पॉलिकैब की: छोटे हार्डवेयर स्टोर से, इस उद्यमी और उसके भाइयों ने खड़ा किया 7,985 करोड़ रुपये का कारोबार
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

प्रारंभ में, इंदर और उनके भाइयों ने स्टोर चलाया और मुंबई में तार और केबल बनाने का प्रयोग किया। लेकिन उनकी असली सफलता की कहानी तब शुरू हुई जब उन्होंने गुजरात में बड़े पैमाने पर बिजली के सामान के निर्माण के लिए पॉलीकैब नामक एक फर्म शुरू की।

इंदर जयसिंघानी, अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, पॉलीकैब

इंदर जयसिंघानी, अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, पॉलीकैब



तब इंदर जयसिंघानी 15 साल के थे जब उनके पिता ठाकुरदास जयसिंघानी का निधन हो गया। यह 1968 था और उनकी मां ने इंदर से अपनी पढ़ाई छोड़ने और उनके पिता द्वारा शुरू किए गए पारिवारिक व्यवसाय को संभालने के लिए कहा। जयसिंघानी परिवार सिंधी है। वे मुंबई में एक छोटा हार्डवेयर और इलेक्ट्रिकल स्टोर 'सिंध इलेक्ट्रिक स्टोर्स' चलाते थे, जिसमें पंखे, लाइट, स्विच और तारें बेची जाती थीं।


यह लोहार चॉल में स्थित था - जिसे बिजली के सामान और उत्पादों के लिए मुंबई का एपिकसेंटर, और एक ट्रेडिंग जोन कहा जाता है। सौभाग्य से युवा इंदर के लिए, वह अकेले नहीं थे जब उन्होंने व्यवसाय संभाला। उनके बड़े भाई गिरधारी और अजय, और उनके छोटे भाई रमेश ने मिलकर परिवार का व्यवसाय अपने हाथों में लिया और अपने पिता की विरासत को आगे बढ़ाया।


इंदर ने योरस्टोरी को बताया,

“बतौर सिंधी, हम हमेशा उद्यमी बनना चाहते थे और अपना फैमिली नेम बनाना चाहते थे। हमने एक मजबूत और गतिशील व्यवसाय की नींव रखने और अपने परिवार के सदस्यों की ताकत का लाभ उठाने का फैसला किया।"

प्रारंभ में, इंदर और उनके भाइयों ने स्टोर चलाया और मुंबई में तार और केबल बनाने का प्रयोग किया। लेकिन उनकी असली सफलता की कहानी 1983 में शुरू हुई जब उन्होंने गुजरात में बड़े पैमाने पर बिजली के सामान के निर्माण के लिए पॉलीकैब नामक एक फर्म शुरू की। यह औद्योगिक निदेशालय, गुजरात सरकार द्वारा एक औद्योगिक इकाई के रूप में पंजीकृत किया गया था।

संघर्ष से सीख

जैसा कि भाइयों ने बिजनेस को ऑर्गैनिकली बिल्ट किया था, इसलिए पॉलिकैब के शुरुआती साल संघर्ष और बलिदानों से भरे हुए थे। सबसे पहले, उन्होंने पीवीसी इंसुलेटेड वायर्स और केबलों के साथ-साथ तांबे, नंगे तांबे और एल्यूमीनियम तार के निर्माण और प्रोसेसिंग के लिए गुजरात के हलोल में एक कारखाना स्थापित किया।


वे कहते हैं,

“हमें बड़ा और अलग सोचना था। पॉलीकैब के साथ, हमने विनिर्माण की शक्ति में विश्वास किया और ग्रो करने के लिए इसमें निवेश किया। चूंकि हमें व्यवसाय की बारीकियों को चुनना था, इसलिए हमें जल्दी व अपने पिता के दोस्तों सहित अन्य सभी से सीखना था।"

इंदर और उनके भाइयों का मंत्र था "पैसा ही पैसे को बनाता है"। इसलिए उन्होंने पॉलीकैब में मुनाफे का बड़ा हिस्सा वापस उसी में लगा दिया। हालांकि उन्होंने कुछ रिजर्व रखा, और बाकी का निवेश कर किया। इंदर थ्योरी में कॉन्सेप्ट से खुश थे, लेकिन वास्तव में, चीजें मुश्किल थीं। पॉलीकैब के शुरुआती दिनों में कैपिटल एक बड़ी चुनौती थी।

पॉलीकैब लीडरशिप टीम

पॉलीकैब लीडरशिप टीम



वे कहते हैं,

"संसाधन दुर्लभ थे, लेकिन हमने कहा कि 'जहां चांह है, वहां राह है'। हम मुश्किल लक्ष्य तय करते रहे और खुद को बढ़ाया। हमने महसूस किया कि यह दृढ़ता आखिरकार चीजों को आगे ले जाएगी और पॉलीकैब इससे बड़ी कंपनी बनेगी।”



भाइयों के लिए आसानी से बना बनाया कुछ भी नहीं मिला, बल्कि उन्हें कठिन तरीकों से मूल्यवान व्यावसायिक सबक सीखने पड़े। जैविक विकास के लिए उनकी रणनीति का मतलब था कि उन्हें सीखना होगा कि पॉलीकैब की गुणवत्ता और सेवा से समझौता किए बिना अधिक लाभदायक कैसे बनें।


इंदर कहते हैं,

“हमें अपनी व्यापारिक रणनीतियों को आगे और पीछे दोनों को जोड़ना था, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि हमारे मार्जिन में लगातार सुधार हो रहा है और हमारे हाथ में अधिक नकदी आ रही है। यह कठिन था, लेकिन हम धीरे-धीरे लेकिन निश्चित रूप से कर्षण प्राप्त करने में कामयाब रहे।” 

प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में विविधता लाना

अपनी हलोल फैसिलिटी में, भाइयों ने वायर्स और केबल्स, पावर वायर, कंट्रोल केबल, बिल्डिंग वायरस और कम्युनिकेशन केबलों का निर्माण किया। उन्होंने भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुसार तार और केबल बनाए। उन्होंने कुछ ग्राहकों के लिए उनकी आवश्यकताओं और विशिष्टताओं के आधार पर कस्टमाइज प्रोडक्ट भी बनाए।


वे कहते हैं,

“हमने बिजली, इंस्ट्रूमेंटेशन, सौर उपयोग, संचार, वेल्डिंग, सबमर्सिबल फ्लैट और गोल केबल्स, रबर, ओवरहेड कंडक्टर, रेलवे सिग्नल, स्पेशलिटी केबल, कंट्रोल केबल, बिल्डिंग वायर, फ्लेक्सिबल/ सिंगल मल्टी-कोर केबल जैसे विभिन्न जरूरतों के लिए उपयोग किए जाने वाले तारों की एक विविध रेंज बनाई है।”

इन पॉलीकैब तारों और केबलों को देश भर में बिजली के स्टोरों में व्यापक रूप से वितरित किया गया था। तार और केबल, उनके प्रकार के आधार पर, ओवरहेड, भूमिगत और सबमरीन पावर ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम में अनुप्रयोगों, विभिन्न उद्योगों में विद्युतीकरण का निर्माण, और जैसे कि समुद्री, तेल और गैस और अंतरिक्ष स्टेशनों में क्षेत्रों में पाया गया। उनका उपयोग घरेलू उपकरणों में भी किया गया था जैसे कि रेफ्रिजरेटर और एयर कंडीशनर के लिए बिजली की आपूर्ति।


हलोल में पॉलीकैब की निर्माण इकाई

हलोल में पॉलीकैब की निर्माण इकाई



तार और केबल को उनके प्रकार के आधार पर ओवरहेड, अंडरग्राउंड और सबमरीन पावर ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम में इस्तेमाल किए जाने के अलावा विभिन्न इंडस्ट्री में विद्युतीकरण के निर्माण, और समुद्री, तेल व गैस, और अंतरिक्ष स्टेशनों जैसे क्षेत्रों में भी इस्तेमाल किया गया।


2009 में, कंपनी ने इंजीनियरिंग, प्रोक्योरमेंट एंड कंस्ट्रक्शन (EPC) व्यवसाय में विविधता लाई, जिसमें बिजली डिस्ट्रीब्यूशन और ग्रामीण विद्युतीकरण परियोजनाओं के डिजाइन, इंजीनियरिंग, सप्लाई, एग्जीक्यूशन और कमीशनिंग शामिल हैं।


इंदर बताते हैं,

“जब, हाई क्वालिटी वाले प्रोडक्ट्स के साथ एक ब्रांड के रूप में हमारी प्रतिष्ठा बढ़ी, हमने महसूस किया कि प्रीमियम गुणवत्ता वाले उपभोक्ता विद्युत उत्पादों के लिए बाजार में एक अंतर था। हमारे व्यापारियों और डीलरों ने इस आवश्यकता को भी संबोधित किया। 2014 में, हमने आगे बढ़ने और बिजली के पंखे, एलईडी लाइट, स्विच और स्विचगियर, कंडेस्ट, सोलर प्रोडक्ट और अन्य इलेक्ट्रिकल सामान बनाने का काम शुरू करने का फैसला किया।"



फास्ट मूविंग इलेक्ट्रिकल गुड्स (FMEG) सेक्टर के इस वेंचर में पॉलीकैब के प्रोडक्ट्स का उपयोग पैनल, स्ट्रीट लाइट, फ्लड लाइट, घरों, रेस्तरां, कॉल सेंटर, होटल, रिटेल स्टोर, बैंक, अस्पताल, आवासीय कॉलोनियों, पार्कों में खुले क्षेत्र की रोशनी, औद्योगिक फैसिलिटी और ऑफिसेस में किया जा रहा है।

मैन्युफैक्चरिंग

आज, पॉलिकैब के पास खुद की 25 मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी हैं, जिसमें इसके गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, दमन और दीव स्थित एलईडी प्रोडक्ट निर्माता टेक्नो इलेक्ट्रोमेक और कमोडिटी ट्रेडिंग कंपनी ट्राफिगुरा के ज्वाइंट वेंचर शामिल हैं। भाइयों का प्राथमिक ध्यान अपने ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए कम समय सीमा पर गुणवत्ता वाले जटिल विद्युत उत्पादों का उत्पादन करने पर था।


इंदर बताते हैं,

“हमारा जोर हमारी उत्पादन प्रक्रिया में इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक, हलोल में ग्राहक केंद्रित आर एंड डी प्रयासों और हमारे ग्राहकों की आवश्यकताओं को समझने में हमारी सेल्स और मार्केटिंग टीम की सहायता करने पर था। हम मानते हैं कि हमारे आरएंडडी प्रयासों ने हमें उन तकनीकी समस्याओं को हल करने में मदद की है जिनका हमारे ग्राहकों सामना करते हैं।"

पॉलीकैब ने मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस के लिए ऑटोमेशन सिस्टम को अपनाया है, जैसे कि मैन्युफैक्चरिंग एग्जीक्यूशन सिस्टम (एमईएस) -जोकि प्रोडक्शन में कच्चे माल की वास्तविक खपत को रिकॉर्ड करने के लिए एक ऑटोमैटिक सेंसर बेस्ड सिस्टम है।

पॉलीकैब के उत्पाद रेंज

पॉलीकैब के उत्पाद रेंज



कंपनी ने एंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग (ईआरपी) सिस्टम के साथ-साथ उत्पादकता बढ़ाने और क्षमता उपयोग का अनुकूलन करने के लिए मेनार्ड ऑपरेशन सीक्वेंस तकनीक (MOST) को भी अपनाया है। इंदर और उनके भाइयों ने अधिकृत डीलरों, वितरकों और खुदरा विक्रेताओं के अपने नेटवर्क के माध्यम से एक सप्लाई चैन भी स्थापित की है। यह नेटवर्क पूरे भारत में पॉलीकैब के उत्पादों की आपूर्ति करता है।





इंदर बताते हैं,

“भारत में हमारे वितरण नेटवर्क में 3,450 से अधिक अधिकृत डीलर और वितरक और 29 गोदाम शामिल हैं। हम अपने उत्पादों को सीधे हमारे अधिकृत डीलरों और वितरकों को सप्लाई करते हैं, जो बदले में, भारत में 1,25,000 से अधिक खुदरा दुकानों में हमारे उत्पादों की सप्लाई करते हैं। हम अपने कॉर्पोरेट ऑफिसे, तीन रीजनल ऑफिस और भारत के विभिन्न हिस्सों में 20 लोकल ऑफिस के माध्यम से अपनी सेल्स और मार्केटिंग गतिविधियों को मैनेज करते हैं।”

आगे का रास्ता

इंदर और उसके भाइयों ने पॉलीकैब के साथ एक लंबा सफर तय किया है, लेकिन वे यह नहीं भूले हैं कि शुरुआती दिनों में उन्हें कड़ी मेहनत करने के लिए किसने प्रेरित किया। जयसिंघानी परिवार का नाम बढ़ाने की उनकी इच्छा अभी भी मजबूत है। भाई अपने वर्तमान के 7,985 करोड़ रुपये के राजस्व और 4,600 कर्मचारियों से आगे पॉलीकैब को ले जाना चाहते हैं।


वे तारों और केबल्स उद्योग में कंपनी के नेतृत्व की स्थिति को मजबूत करना चाहते हैं। भाई खनन, तेल और गैस, शिपिंग, बिजली, नवीनीकरण, बुनियादी ढांचे, निर्माण, मोटर वाहन, दूरसंचार और कृषि जैसे प्रमुख विकास क्षेत्रों को लक्षित करके पॉलीकैब के बाजार हिस्सेदारी का विस्तार करना चाहते हैं।


इंदर बताते हैं,

“हम भारत में FMEG क्षेत्र में अपनी बाजार स्थिति को बढ़ाना और मजबूत करना चाहते हैं। हम अपने ब्रांड, वितरण नेटवर्क, विविध ग्राहक आधार और विनिर्माण क्षमताओं को और आगे बढ़ाकर ऐसा करेंगे। हम भौगोलिक विस्तार के लिए नए चैनलों की पहचान करने और उन्हें नियुक्त करने के लिए विस्तृत बाजार मानचित्रण भी कर रहे हैं।"

पॉलीकैब तेजी से बढ़ते बाजार में प्रतिस्पर्धा कर रहा है और अन्य निर्माताओं, व्यापारियों, आपूर्तिकर्ताओं और बिजली के उपकरणों के आयातकों से प्रतिस्पर्धा का सामना कर रहा है। यह एक ऐसे उद्योग में और भी बड़ा होने का लक्ष्य है जहां आपूर्तिकर्ता तकनीकी विशेषताओं, उत्पाद की गुणवत्ता, बिक्री और वितरण नेटवर्क की ताकत, मूल्य निर्धारण और समय पर वितरण सहित प्रमुख विशेषताओं के आधार पर प्रतिस्पर्धा करते हैं।


Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close