जानिए राकेश झुनझुनवाला के ना होने का उनके शेयरों पर पड़ेगा क्या असर, स्टॉक बेच दें या टिके रहें?

By Anuj Maurya
August 17, 2022, Updated on : Wed Aug 17 2022 07:11:53 GMT+0000
जानिए राकेश झुनझुनवाला के ना होने का उनके शेयरों पर पड़ेगा क्या असर, स्टॉक बेच दें या टिके रहें?
ऐसे बहुत सारे निवेशक हैं जो राकेश झुनझुनवाला को देखकर ही अपनी रणनीति बनाते थे. अब वह सोच रहे हैं कि झुनझुनवाला की मौत के बाद उन शेयरों से निकल जाएं या टिके रहें.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) के निधन के बाद दलाल स्ट्रीट (Share Market) से जुड़े लोग इस बात की चर्चा करने लगे हैं कि अब उनके शेयरों का क्या होगा. कुछ लोगों को यह भी डर सता रहा है कि कहीं उनके शेयरों में गिरावट तो नहीं आ जाएगी. इन स्टॉक्स में पैसे लगाने वाले छोटे निवेशक सोच रहे हैं कि अब उन्हें शेयर बेचकर मुनाफा काट लेना चाहिए या फिर टिके रहने में ही है फायदा. आइए जानते हैं आपको आगे की क्या रणनीति बनानी चाहिए.

प्रोफेशनल्स के हाथों में हैं झुनझुनवाला के शेयर्स

शेयर बाजार में बहुत सारे लोग अपनी रणनीति दिग्गज निवेशकों को देखकर ही बनाते हैं. अगर आप भी ऐसे लोगों में से हैं तो अब आपको उनकी मौत की वजह से अपनी रणनीति बदलने की जरूरत नहीं है. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि उनके शेयर्स को उनकी कंपनी के प्रोफेशनल्स हैंडल करते हैं. बता दें कि जिन कंपनियों में झुनझुनवाला ने निवेश किया था, वो कंपनियां कभी झुनझुनवाला के मैनेजमेंट में दखल नहीं देती थीं. उन्हें पता था कि झुनझुनवाला सही फैसला ही लेंगे. झुनझुनवाला ने भी अपनी कंपनी में शेयर्स को मैनेज करने की जिम्मेदारी प्रोफेशनल्स को दी हुई थी, जो आगे भी इसे संभालेंगे.

9 साल में 10 हजार करोड़ बन गए 46 हजार करोड़

राकेश झुनझुनवाला को शेयरों में निवेश करने से कितना फायदा हुआ है, इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि सिर्फ 9 साल में ही उनका निवेश साढ़े चार गुना तक बढ़ गया है. फोर्ब्स के अनुसार 2013 में झुनझुनवाला के निवेश की नेटवर्थ 10,300 करोड़ रुपये थी, जो 4 मई 2022 तक 46,167 करोड़ रुपये हो गई. हालांकि, जून तिमाही के नतीजों की बात करें तो तब तक उनकी नेटवर्थ में थोड़ी गिरावट आई और वह 31,904 करोड़ रुपये रह गई.

पहले दिन अधिकतर शेयरों में दिखी तेजी

झुनझुनवाला की मौत के बाद मंगलवार को पहले दिन शेयर बाजार खुला. अनुमान लगाया जा रहा था कि शेयर बाजार पर कोई बुरा असर दिख सकता है. हालांकि, ऐसा कुछ नहीं हुआ और शेयर बाजार बढ़त के साथ बंद हुआ. यहां तक कि उनके निवेश वाले स्टॉक्स में से भी अधिकतर में तेजी देखी गई.

अब शेयरों का क्या करें?

अगर आपने भी राकेश झुनझुनवाला को देखकर अपनी निवेश की रणनीति बनाई है और उनकी मौत के बाद रणनीति बदलने की सोच रहे हैं तो रुकिए. ऐसा ना करने की कई वजहें हैं. एक तो यही है कि झुनझुनवाला के शेयर प्रोफेशनल्स के हाथों में हैं.


इसके अलावा, खुद झुनझुनवाला कहते थे कि शेयरों में निवेश अपनी समझ और रिसर्च के आधार पर करें. वह कहते थे कि ना दूसरों को देखकर निवेश करना चाहिए, ना ही टिप्स के चक्कर में पड़कर शेयर बाजार में पैसे लगाने चाहिए. वह ये भी कहते थे कि अगर आप थोड़ी रिसर्च करने के बाद लंबे वक्त के लिए निवेश करें और धैर्य रखें तो अच्छा रिटर्न जरूर मिलेगा.


इतना ही नहीं, शेयर्स में बने रहने की एक बड़ी वजह ये है कि शेयर्स की चाल कंपनी के परफॉर्मेंस पर अधिक निर्भर करती है, झुनझुनवाला की मौत का अगर शेयरों पर कोई असर होता भी है तो वह अस्थायी होगा.

क्या कहते हैं शेयर बाजार के एक्सपर्ट?

शेयर इंडिया (Share India) के वाइस प्रेसिडेंट और रिसर्च प्रमुख डॉ. रवि सिंह का मानना है कि राकेश झुनझुनवाला की मौत का शेयर बाजार पर कोई बड़ा असर नहीं दिखेगा. वह कहते हैं कि आज के वक्त में शेयर बाजार में पैसा लगाने वाले लोग कंपनी के फंडामेंटल्स पर काफी ध्यान देते हैं. डॉ. रवि के अनुसार जिन कंपनियों में राकेश झुनझुनवाला की 40 फीसदी या उससे बड़ी होल्डिंग है, उन पर थोड़ा असर दिख सकता है. हालांकि, यह असर भी कुछ दिन के लिए होगा और अगर आप इनमें टिके रहते हैं तो लंबे वक्त में अच्छे रिटर्न देखने को मिलेंगे. उनका मानना है कि कम होल्डिंग वाली कंपनियों के शेयर पर राकेश झुनझुनवाला के ना होने का कोई खास असर नहीं पड़ेगा.