SBI ने कर्ज किया महंगा, MCLR 0.10% बढ़ाया

By Ritika Singh
July 15, 2022, Updated on : Fri Jul 15 2022 11:41:27 GMT+0000
SBI ने कर्ज किया महंगा, MCLR 0.10% बढ़ाया
SBI में अब 1 साल की MCLR 7.50 प्रतिशत हो गई है, जो पहले 7.40 प्रतिशत थी.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपनी मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) में बढ़ोतरी कर दी है. बैंक ने दरों को 0.10 प्रतिशत बढ़ाया है. नए MCLR 15 जुलाई 2022 से प्रभावी हैं. SBI में अब 1 साल की MCLR 7.50 प्रतिशत हो गई है, जो पहले 7.40 प्रतिशत थी. ज्यादातर रिटेल लोन, एक साल वाली MCLR पर ही बेस्ड होते हैं.


अन्य टेनर्स के लिए SBI के नए MCLR इस तरह हैं...

sbi-hikes-mclr-by-10-basis-points-sbi-lending-rates

SBI की अन्य बेंचमार्क लेंडिंग रेट्स की बात करें तो बैंक में बेस रेट इस वक्त 8 प्रतिशत सालाना है. EBLR 7.55 प्रतिशत+CRP है. RLLR 7.15 प्रतिशत+CRP है. वहीं बेंचमार्क प्राइम लेंडिंग रेट यानी BPLR 12.75 प्रतिशत सालाना है.

Bank Of Baroda ने MCLR 0.15% तक बढ़ाया

हाल ही में 12 जुलाई को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank Of Baroda) ने MCLR को 0.15 प्रतिशत तक बढ़ाया था. नई दरें 12 जुलाई 2022 से ही प्रभावी हैं. भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा रेपो रेट में बढ़ोतरी करने के बाद से कई बैंक लोन्स पर ब्याज दरों को बढ़ा चुके हैं. केनरा बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, HDFC बैंक, यूनियन बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, एक्सिस बैंक सहित कई दूसरे बैंक MCLR में इजाफा कर चुके हैं.