सिडबी और सऊदी अरब के मोनशात ने MSME सहयोग के लिए हाथ मिलाया

By yourstory हिन्दी
December 07, 2022, Updated on : Wed Dec 07 2022 08:33:04 GMT+0000
सिडबी और सऊदी अरब के मोनशात ने MSME सहयोग के लिए हाथ मिलाया
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारत में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSME) के संवर्धन, वित्तपोषण और विकास में लगे प्रमुख वित्तीय संस्थान, भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) ने अपने संबंधित देशों में एमएसएमई और संबंधित इकोसिस्टम के विकास और बढ़ावा देने में सामान्य हित के मामलों की खोज और सहयोग के लिए सऊदी अरब साम्राज्य के लघु और मध्यम उद्यम सामान्य प्राधिकरण (मोनशात - Monsha’at) के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं. सिडबी सऊदी अरब में नए लॉन्च किए गए एसएमई बैंक के लिए अपनी विशेषज्ञता और अनुभव भी प्रदान करेगा.


उक्त समझौता ज्ञापन रणनीतिक द्विपक्षीय पहल का एक हिस्सा है जो भारत और सऊदी अरब के बीच राजनयिक संबंधों को बेहतर बनाने में मदद करेगा. समझौता ज्ञापन को 04 दिसंबर, 2022 को रियाद में एसएमई बी अंक के लॉन्च इवेंट के दौरान एसएमई बैंक के सीईओ माजिन बिन अहमद अल-घुनैम और वी एस वी राव, उप प्रबंध निदेशक द्वारा क्रमशः सिडबी और मोनशात की ओर से निष्पादित किया गया था.

sidbi-and-monshaat-of-saudi-arabia-join-hands-for-msme-co-operation

एसएमई बैंक के सीईओ अल-जी हुनैम के द्वारा बताया गया कि सिडबी के सहयोग से विविध डिजिटल वित्तीय उत्पाद प्रदान करके एसएमई की व्यावसायिक यात्रा को चलाने के लिए एसएमई बैंक के मिशन को प्राप्त करने में मदद मिलेगी. उन्हों ने यह भी बताया कि दोनों संगठन एमएसएमई को सहायता प्रदान करने में सहयोग का पता लगाएंगे, ताकि वे अपने-अपने क्षेत्रों में वित्तीय जानकारी दे सकें, सऊदी एसएमई बैंक परियोजना को तकनीकी रूप से आगे बढ़ा सकें आदि.


राव ने बताया किया कि "समझौता ज्ञापन दोनों देशों के एमएसएमई संस्थानों के बीच सहयोग के कई अवसर प्रदान करता है. सिडबी को एसएमई क्रेडिट, क्रेडिट गारंटी, वेंचर कैपिटल, क्लस्टर डेवलपमेंट, इंस्टीट्यूशनल फाइनेंस आदि के क्षेत्रों में विकास वित्त में 32 से अधिक वर्षों का अनुभव है. सिडबी को सऊदी अरब के नए एसएमई बैंक के विकास और सफलता को सुविधाजनक बनाने के लिए अपने अनुभव और ज्ञान को साझा करने में बहुत खुशी होगी. सिडबी सऊदी अरब में भारतीय एमएसएमई के लिए सकारात्मक संबंध खोजने के लिए इस अवसर की भी उम्मीद करेगा.

यह भी पढ़ें
निर्यात के मोर्चे पर MSMEs की मदद के लिए Walmart और NSIC आए साथ

Edited by रविकांत पारीक

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close