कोच्चि स्थित एआई एरियल डायनामिक्स ने कोविड-19 से लड़ने के लिए विकसित किए ड्रोन

By Debolina Biswas
August 15, 2020, Updated on : Tue Aug 18 2020 06:40:05 GMT+0000
कोच्चि स्थित एआई एरियल डायनामिक्स ने कोविड-19 से लड़ने के लिए विकसित किए ड्रोन
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मेकर विलेज में स्थापित, ड्रोनटेक स्टार्टअप ने केरल सरकार को यूएवी के जरिये कीटाणुनाशक के छिड़काव व लोगों की भीड़ में थर्मल स्कैनिंग में भी मदद की है।

एआई एरियल डायनेमिक्स द्वारा विकसित किया गया यूएवी

एआई एरियल डायनेमिक्स द्वारा विकसित किया गया यूएवी



लंबे समय से भारत मशीनरी के लिए कच्चे माल की खरीद के लिए विदेशों पर निर्भर रहा है। हालाँकि मेक इन इंडिया और आत्मानिभर भारत की पहल के कारण, भारतीय स्टार्टअप अब आत्मनिर्भर हो रहे हैं।


इन विचारधाराओं के के साथ कोच्चि स्थित एआई एरियल डायनेमिक्स स्वदेशी यूएवी (मानव रहित हवाई वाहन) का निर्माण कर रहा है। यह ड्रोनटेक स्टार्टअप उपभोक्ताओं को बेहतर कीमत पर अपने उत्पाद दे रहा है।


कॉलेज के दोस्तों विष्णु वी नाथ, एम रुबिन रे, डेनी पॉउलोज और सुजई केजे द्वारा स्थापित एआई एरियल डायनेमिक्स 2019 में मेकर विलेज, कोच्चि में शुरू किया गया था और कंपनी को जनवरी, 2020 में पंजीकृत किया गया था।

बड़ा लम्हा

31 साल के विष्णु ने सीटीयू, गुजरात से एरियल रोबोटिक्स में पीएचडी की है। उन्होंने अपने कॉलेज के दिनों के दौरान 2015 में इस विचार की कल्पना की थी। वे कहते हैं, "प्रारंभिक डिजाइन को मेरे बीटेक प्रोजेक्ट के रूप में लागू किया गया था और बाद में अन्य लोग भी समूह में शामिल हो गए।"


रिमोट नियंत्रित एयरक्राफ्ट के निर्माण के शौक के रूप में शुरू होने वाली टीम ने यूएवी का सफलतापूर्वक परीक्षण किया, एक व्यवसाय योजना तैयार की और कंपनी शुरू की।

विष्णु, जो वर्तमान में एआई एरियल डायनामिक्स में सीटीओ हैं, उन्होने पहले संबंधित विभागों में यूएवी को लागू करने के लिए केस स्टडीज पर केरल राज्य के विभागों, वन, पुरातत्व और आपदा प्रबंधन के साथ काम किया था।


31 साल के रुबिन राय एक एमटेक स्नातक हैं और मशीन लर्निंग सिस्टम आर्किटेक्ट पर ध्यान केंद्रित करते हैं। उन्होंने पहले टाटा एलेक्सी के साथ काम किया था। 32 साल के सुजई फिलहाल एमबीए कर रहे हैं और स्टार्टअप के सीईओ है। दूसरी ओर 29 वर्षीय डेनी एआई एरियल डायनामिक्स में निदेशक हैं। स्टार्टअप में वर्तमान में आठ कर्मचारियों की एक टीम है।


विष्णु कहते हैं, “हम अपने विश्व स्तरीय निर्माण प्रयोगशाला के कारण मेकर गांव से काम कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त, हमारी सभी तकनीकी चुनौतियाँ मेकर विलेज के मेंटर्स द्वारा हल की जाती हैं।”


संस्थापक टीम ने शुरू में कंपनी शुरू करने के लिए 8 लाख रुपये का निवेश किया था और बाद में इसे NIDHI से 10 लाख रुपये मिले।


एआई एरियल डायनामिक्स में संस्थापक टीम

एआई एरियल डायनामिक्स में संस्थापक टीम



यह काम कैसे करता है?

ड्रोनटेक स्टार्टअप ग्राहकों की आवश्यकताओं के अनुसार यूएवी डिजाइन करता है। टीम तब डिजाइन करती है और सिमुलेशन चरण शुरू करती है। निर्मित होने के बाद उत्पाद या ड्रोन का परीक्षण किया जाता है, फिर से अनुकूलित किया जाता है और अंत में ग्राहक को दिया जाता है।


विष्णु कहते हैं,

“ड्रोन का डिजाइन और निर्माण इन-हाउस ही किया जाता है। सभी और उपकरण का निर्माण विलेज लैब सुविधाओं का उपयोग करके किया जाता है।”

केवल कार्बन फाइबर और बैटरी क्रमशः जर्मनी और यूएसए से आयात की जाती हैं।


एआई एरियल डायनेमिक्स में दो किलोग्राम से लेकर 100 किलोग्राम पेलोड तक ऑटोनोमस यूएवी हैं और इसमें सेंसर, वीडियो, डेटा लिंक और ग्राउंड कंट्रोल स्टेशन भी हैं।


ड्रोन 4 लाख रुपये से शुरू होते हैं। उत्पाद की बिक्री के अलावा एआई एरियल डायनामिक्स कस्टमाइज़िंग डिज़ाइन, सेवाओं और स्पेयर पार्ट्स की बिक्री से राजस्व उत्पन्न करता है।

महामारी के हीरो

जबकि घटकों और भुगतानों की खरीद में प्रारंभिक देरी हुई, कोविड-19 महामारी की शुरुआत के दौरान, एआई एरियल डायनेमिक्स ने जल्द ही केरल सरकार को वायरस से लड़ने में मदद करना शुरू कर दिया।


इसने सरकार को यूएएवी डिजाइन करने में मदद की जो सैनिटाइटर छिड़कने में सक्षम थे। स्टार्टअप ने लॉकडाउन के दौरान अपने घरों के बाहर टहलने वाले लोगों को ट्रैक करने के लिए अपने ड्रोन तैनात किए। इसने भीड़ की थर्मल स्कैनिंग में भी मदद की है।

स्टार्टअप द्वारा विकसित एक यूएवी ‘गरुड़’ को भीड़ में लोगों के तापमान को पढ़ने के लिए थर्मल स्कैनर के साथ तैनात किया जाता है। इसमें 60 किलोग्राम तक का भार ले जाने की क्षमता है और इसका इस्तेमाल केरल में कीटाणुनाशक स्प्रे करने, चिकित्सा नमूने लेने और न्यूनतम मानव स्पर्श बिंदुओं के साथ आपातकालीन डिलिवरी के लिए किया जाता था।


कीटाणुनाशक स्प्रे करता एआई एरियल डायनामिक द्वारा विकसित यूएई

कीटाणुनाशक स्प्रे करता एआई एरियल डायनामिक द्वारा विकसित यूएई



ऊंची उड़ान

जबकि ड्रोनटेक उद्योग अभी भी अपनी नवजात चरण में है, भारतीय यूएवी उद्योग जैसा कि InvestIndia.gov द्वारा अनुमान लगाया गया है, लगभग 885.7 मिलियन डॉलर का है।


भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम में देखने के लिए अन्य ड्रोनटेक स्टार्टअप्स में से कुछ में मारुत ड्रोनटेक, विनवेली, IdeaForge, Aero360 और द्रोण एविएशन शामिल हैं। हालांकि, विष्णु कहते हैं, "हमारी यूएसपी यह है कि हम ग्राहकों की आवश्यकताओं के अनुसार अनुकूलित उत्पादों की पेशकश करते हैं।"


एआई एरियल डायनेमिक्स रक्षा क्षेत्र, सरकारी संस्थाओं और कृषि क्षेत्र को लक्षित करता है। यह वर्तमान में रक्षा मंत्रालय, नौसेना भौतिक और समुद्र विज्ञान प्रयोगशाला (एनपीओएल) के तहत रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के साथ एक परियोजना पर काम कर रहा है।


विष्णु के अनुसार, ड्रोनटेक स्टार्टअप ने अपने उत्पादन में 15 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की है। स्टार्टअप ने अब तक तीन इकाइयां बेची हैं और इसका वार्षिक औसत राजस्व 35 लाख रुपये है।


स्टार्टअप भारत सरकार द्वारा अपने उत्पादों को प्रमाणित करने के लिए उत्सुक है। इसके अतिरिक्त विष्णु कहते हैं, "हम हैवी लिफ्ट यूएवी के निर्माण पर काम कर रहे हैं जो मनुष्यों को ले जा सकता है और हम ग्रांट से धन जुटाने के लिए भी उत्सुक हैं।"