Ford और Tata Steel के बीच हरित इस्पात की सप्लाई को लेकर हुआ समझौता

By yourstory हिन्दी
October 27, 2022, Updated on : Thu Oct 27 2022 11:25:07 GMT+0000
Ford और Tata Steel के बीच हरित इस्पात की सप्लाई को लेकर हुआ  समझौता
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

टाटा स्टील समूह की कंपनी टाटा स्टील नीदरलैंड ने अमेरिकन वाहन विनिर्माता फोर्ड के साथ हरित इस्पात की आपूर्ति का समझौता किया है. इस समझौते के तहत टाटा स्टील अपने नीदरलैंड के आइमोइडेन स्थित संयंत्र से फोर्ड को ‘जेरेमिस हरित इस्पात’ की आपूर्ति करेगी.


इस समझौते से, फोर्ड टाटा स्टील का हरित इस्पात खरीदने वाली पहली ग्राहक बन जाएगी. जेरेमिस कार्बन लाइट इस्पात को 100 प्रतिशत कार्बन मुक्त माना जाता है. इस इस्पात के उत्पादन के लिए ईंधन के रूप में हरित हाइड्रोजन का इस्तेमाल किया जाता है. टाटा स्टील ब्रिटेन और नीदरलैंड में इस्पात विनिर्माण के लिए कम कार्बन उत्सर्जन वाली प्रौद्योगिकियों को अपनाने पर काम कर रही है. 


टाटा समूह की मंगलवार को जारी विज्ञप्ति के अनुसार हरित इस्पात के प्रयोग से फोर्ड को अपनी विनिर्माण प्रक्रिया में 2035 कार्बन उत्सर्जन के स्तर में वृद्धि को शून्य करने (कार्बन तटस्थता) के लक्ष्य तक पहुंचने में मदद मिलेगी. फोर्ड ने अपने सभी नए, सभी इलेक्ट्रिक, मध्यम आकार के क्रॉसओवर में कम-कार्बन वाले इस्पात के उपयोग का लक्ष्य रखा है. इसकी शुरुआत 2023 में यूरोप के कारखाने में होगी. 


फोर्ड की परचेजिंग निदेशक सू स्लाटर ने कहा कि, “हमारे जैसे हमारे ग्राहक, धरती की हिफाजत करना चाहते हैं, और हम इस यात्रा पर आवश्यक कदम उठा रहे हैं. ताकि उन्हें जलवायु परिवर्तन के खिलाफ सकारात्मक योगदान देने के लिए उपयुक्त वाहन उपलब्ध कराए जा सकें.”


टाटा स्टील नीदरलैंड के प्रबंधन बोर्ड के चेयरमैन हैंस वान डेन बर्ग ने कहा, “एक स्वस्थ भविष्य के लिए हमारी इस्पात निर्माण के लिए एक बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है और हम हमारी महत्वाकांक्षाओं और हमारे ग्राहकों के बीच एक मजबूत मेल देखते हैं. इसलिए हम हरित इस्पात योजना के कार्यान्वयन में फोर्ड के साथ समझौते से प्रसन्न और गर्व महसूस करते हैं.”



Edited by Prerna Bhardwaj