Tesla, Elon Musk का भारत में स्वागत है लेकिन केवल सरकार की नीतियों पर: केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय

By रविकांत पारीक
June 20, 2022, Updated on : Mon Jun 20 2022 07:25:40 GMT+0000
Tesla, Elon Musk का भारत में स्वागत है लेकिन केवल सरकार की नीतियों पर: केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडे (Mahendra Nath Pandey) ने हाल ही में कहा है कि एलन मस्क (Elon Musk) और टेस्ला (Tesla) का भारत में स्वागत है लेकिन सरकार आत्मनिर्भर भारत (Aatmanirbhar Bharat) की नीति से किसी भी तरह से समझौता नहीं करेगी.


अमेरिकी इलेक्ट्रिक कार निर्माता टेस्ला, भारत में अपने वाहनों को बेचने के लिए आयात शुल्क (Import Duty) में छूट की मांग कर रही है. पिछले महीने, टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने कहा था कि कंपनी अपने प्रोडक्ट्स का निर्माण स्थानीय स्तर पर नहीं करेगी, जब तक कि उसे देश में अपनी कारों को बेचने और सर्विस की अनुमति नहीं दी जाती है.


मस्क ने भारत में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने की टेस्ला की योजना के बारे में एक ट्वीट में कहा, "टेस्ला किसी भी स्थान पर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट नहीं लगाएगी जहां हमें पहले कारों को बेचने और सर्विस की अनुमति नहीं है."


शनिवार को एक टीवी चैनल की ग्लोबल समिट को संबोधित करते हुए, भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री ने कहा, “प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सरकार आत्मनिर्भर भारत नीति पर तेजी से आगे बढ़ी है और इस पर बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली है और हम उस पर किसी भी तरह से समझौता नहीं करेंगे.“


उन्होंने आगे कहा, "टेस्ला, एलन मस्क का भारत में स्वागत है लेकिन केवल देश की नीतियों के अनुसार."


मस्क ने पिछले साल अगस्त में कहा था कि अगर टेस्ला देश में आयातित वाहनों (imported vehicles) के साथ पहली बार सफल होती है तो वह भारत में मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगा सकते हैं. वर्तमान में, भारत 40,000 अमेरिकी डॉलर से अधिक CIF (Cost, Insurance and Freight) कीमत वाली पूरी तरह से आयातित कारों पर 100 प्रतिशत आयात शुल्क और 40,000 अमेरिकी डॉलर से कम लागत वाली कारों पर 60 प्रतिशत आयात शुल्क लगाता है.