बिक्री के बाद की सेवाओं के क्षेत्र में धमाल मचा रहा है ये स्टार्टअप

By Apurva P
August 24, 2020, Updated on : Tue Aug 25 2020 04:35:19 GMT+0000
बिक्री के बाद की सेवाओं के क्षेत्र में धमाल मचा रहा है ये स्टार्टअप
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

फरवरी 2020 में ओनसाइटो ने सीरीज बी फंडिंग में 19 मिलियन डॉलर जुटाए थे, जिसका नेतृत्व मौजूदा निवेशक एक्सेल की भागीदारी के साथ ज़ोडियस ग्रोथ फंड ने किया था।

कुणाल महिपाल, ऑनसाइटगो के संस्थापक और सीईओ

कुणाल महिपाल, ऑनसाइटगो के संस्थापक और सीईओ



आईआईएम बैंगलोर के पूर्व छात्र कुणाल महिपाल ने अक्सर अपने मोबाइल और गैजेट्स के लिए मरम्मत और सर्विसिंग को लेकर परेशानी का अनुभव किया था। तब उन्हें इलेक्ट्रॉनिक्स या उपभोक्ता उपकरणों की मरम्मत या बिक्री के बाद की सेवाओं के बारे में कम जानकारी थी।


अधिकृत सेवा केंद्र पर उपकरणों को छोड़ने और वापस लेने जाने की परेशानी से नाखुश कुणाल ने बिना परेशानी के और खरीद के बाद की विश्वसनीय सेवाओं की आवश्यकता को पूरा करने का निर्णय लिया।


वे कहते हैं,

"मुझे लगा कि किसी को भी छोटे से काम के लिए छुट्टी नहीं लेनी चाहिए और कम लागत, वास्तविक मरम्मत की तलाश में एक दुकान से लेकर दूसरी दुकान तक चारों ओर भागना नहीं चाहिए।"

ऑनसाइटगो 2010 में एक विचार के साथ शुरू हुआ कि मोबाइल उपकरणों और लैपटॉप की मरम्मत के लिए एक पिक-एंड-ड्रॉप सेवा ग्राहकों को उपलब्ध कराई जाएगी। दस साल बाद यह व्यक्तिगत उपकरणों, गैजेट्स और घरेलू उपकरणों के लिए ग्राहक सेवा स्टार्टअप में रूपांतरित हो गया है।



मिली बढ़त

कुणाल याद करते हैं,

“यह वह समय था जब लोग कई इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीद रहे थे या बेच रहे थे और कंपनियां देख रही थीं कि वे बाजार का विस्तार कैसे कर सकती हैं। मैं सोचने लगा कि इन उत्पादों की वारंटी अवधि समाप्त होने के बाद क्या होगा।”

तीन वर्षों के बाद टीम ने महसूस किया कि उनका मॉडल पूंजी-कुशल नहीं था क्योंकि ग्राहकों और रिटर्न के बाद जाने की लागत सिंक में नहीं थी। तब यह जल्दी से विभिन्न खुदरा विक्रेताओं के साथ साझेदारी की ओर बढ़ा और बिक्री के बाद सेवाओं की पेशकश की। इससे बड़ी संख्या में ग्राहकों को स्टार्टअप की त्वरित पहुंच प्राप्त हुई।


कुणाल कहते हैं, "लोग महंगे उपकरण खरीद रहे थे और अतिरिक्त सुरक्षा पाने के लिए उत्सुक थे, कि कहीं उनके उपकरण में कोई गड़बड़ ना जाए।"


पहले साल में कंपनी के मुंबई में कुछ सौ ग्राहक थे। इसने अप्रैल 2012 में अपने 100,000 वें ग्राहक का अधिग्रहण किया और 2013 में 500,000 ग्राहकों तक पहुंच गया। 2014 में ऑनसाइटगो डिवाइस सुरक्षा सेवाओं में शामिल हो गया और वार्षिक रखरखाव अनुबंध जैसी योजनाओं की पेशकश करने लगा।


आज ऑनसाइटगो, जिसकी भारत भर में 300 सदस्यीय टीम है, इसके पास 6.5 मिलियन ग्राहक आधार होने का दावा है।




बिक्री के बाद सेवाओं पर ध्यान

वर्तमान में, ऑनसाइटगो भारत के शीर्ष खुदरा विक्रेताओं, बाजारों, और उपभोक्ता वित्त कंपनियों के साथ साझेदारी में उपकरणों के लिए विस्तारित वारंटी, वार्षिक रखरखाव अनुबंध और क्षति संरक्षण योजना प्रदान करता है। इसने हाल ही में एयर कंडीशनर और वाटर प्यूरीफायर के लिए वार्षिक रखरखाव अनुबंध (AMC) जैसी नई योजनाओं के साथ अपनी सेवाओं का विस्तार किया और स्मार्टफ़ोन के लिए बायबैक का आश्वासन दिया है।


यह आफ्टर सेल्स सर्विस स्टार्टअप देश भर के विभिन्न खुदरा विक्रेताओं के साथ मिलकर काम करता है, जिसमें अमेज़न इंडिया, ईज़ोन, क्रोमा, और विजय सेल्स शामिल हैं।

इसने Sanket, Great Eastern, Value Plus और Vivek जैसे क्षेत्रीय विशेष स्टोर के साथ भी करार किया है। इसने छोटे खुदरा विक्रेताओं तक अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए आईसीआईसीआई, एक्सिस, एचडीबी और कोटक जैसी उपभोक्ता वित्त कंपनियों के साथ साझेदारी की है।


फरवरी 2020 में ओनसाइटो ने सीरीज बी फंडिंग में 19 मिलियन डॉलर जुटाए थे, जिसका नेतृत्व मौजूदा निवेशक एक्सेल की भागीदारी के साथ ज़ोडियस ग्रोथ फंड ने किया था।


Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close