ये हैं देश के 5 सबसे सफल आईआईटियन, अलग-अलग क्षेत्रों में दुनिया में किया है नाम रोशन

By शोभित शील
June 23, 2021, Updated on : Wed Jun 23 2021 06:32:19 GMT+0000
ये हैं देश के 5 सबसे सफल आईआईटियन, अलग-अलग क्षेत्रों में दुनिया में किया है नाम रोशन
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

"हम यहाँ ऐसे 5 आईआईटियन के बारे में आपको बताएँगे जिनमें से कुछ ने दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में नेतृत्व संभाला है, जबकि कुछ ने खुद की कंपनी खड़ी की है।

आईआईटी, वो संस्थान जहां से निकले छात्रों की उपलब्धियों को देखकर देशवासी दंभ भरते हैं। देश के सबसे प्रीमियम संस्थानों में शुमार आईआईटी के निकले छात्रों ने बीते कई दशकों से लगातार देश और विदेश में भी अपनी काबिलियत के दम पर सफलता का परचम लहराया है।


आज हम यहाँ ऐसे 5 आईआईटियन के बारे में आपको बताएँगे जिनमें से कुछ ने दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में नेतृत्व संभाला है, जबकि कुछ ने खुद की कंपनी खड़ी की है। इसी के साथ आईआईटी से निकले इन छात्रों ने अर्थशास्त्र और साहित्य के क्षेत्र में भी बड़ा और सराहनीय योगदान दिया है।

रघुराम राजन

k

देश के पूर्व आरबीआई गवर्नर और दुनिया के सबसे बड़े अर्थशास्त्रियों में शुमार रघुराम राजन आईआईटी के छात्र रह चुके हैं। रघुराम राजन साल आईआईटी दिल्ली के 1985 बैच के बीटेक छात्र रहे हैं, हालांकि इसके बाद उन्होने आईआईएम अहमदाबाद से एमबीए की डिग्री भी हासिल की थी। गौरतलब है कि रघुराम राजन ने आईआईटी और आईआईएम दोनों में ही गोल्ड मेडल हासिल किए थे।


रघुराम राजन साल 2013 में आरबीआई के गवर्नर बने थे। साल 2017 में गवर्नर पद से मुक्त होने के बाद से रघुराम राजन दुनिया के तमाम प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में छात्रों को पढ़ाने का भी काम कर रहे हैं।

सुंदर पिचाई

k

सुंदर पिचाई आज दुनिया की सबसे बड़ी सर्च इंजन कंपनी गूगल और उसकी पैरेंट कंपनी अल्फाबेट के सीईओ हैं। साल 1993 में आईआईटी खड़गपुर से बीटेक की डिग्री हासिल करने के बाद वो एमएस की पढ़ाई के लिए अमेरिका के स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय आ गए, इसके बाद सुंदर ने पेंसिलवेनिया विश्वविद्यालय से एमबीए की डिग्री हासिल की।


पिचाई साल 2004 में गूगल से जुड़े थे और उसके बाद वे कंपनी में विभिन्न पद और जिम्मेदारियाँ संभालते रहे। साल 2015 में सुंदर पिचाई को गूगल का सीईओ बनाया गया था और साल 2019 में उन्होने गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट में सीईओ पद की ज़िम्मेदारी भी संभाल ली थी।

एनआर नारायण मूर्ति

k

एनआर नारायण मूर्ति देश के जाने-माने अरबपति और देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनियों में शुमार इन्फोसिस के संस्थापक हैं। साल 1967 में एनआईटी से स्नातक की डिग्री हासिल करने वाले नारायण मूर्ति ने साल 1969 में आईआईटी कानपुर से परास्नातक की डिग्री हासिल की है।


एनआर नारायण मूर्ति देश के जाने-माने अरबपति और देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनियों में शुमार इन्फोसिस के संस्थापक हैं। साल 1967 में एनआईटी से स्नातक की डिग्री हासिल करने वाले नारायण मूर्ति ने साल 1969 में आईआईटी कानपुर से परास्नातक की डिग्री हासिल की है।


नारायण मूर्ति ने साल 1981 में इन्फोसिस की नींव रखी थी और लगभग तीन दशकों से भी अधिक समय तक इन्फोसिस नारायण मूर्ति के नेतृत्व में सफलता के शिखर को छुआ है।

चेतन भगत

k


चेतन भगत का नाम देश के सबसे चर्चित और सफलतम लेखकों में शुमार है। चेतन भगत की लिखी तमाम किताबों पर फिल्में बन चुकीं हैं जबकि इसी के साथ चेतन अपने विचारों को बड़े ही खुलेपन के साथ सबसे सामने रखने के लिए जाने जाते हैं। 


चेतन भगत ने साल 1995 में आईआईटी दिल्ली से स्नातक की डिग्री हासिल की थी और इसके बाद उन्होने साल 1997 में आईआईएम अहमदाबाद से एमबीए की डिग्री भी हासिल की थी। चेतन भगत अब तक 9 नॉवेल लिख चुके हैं जबकि उन्होने 3 नॉन फिक्शन किताबें भी लिखी हैं।

दीपिंदर गोयल

k

दीपिंदर गोयल देश की सबसे बड़ी फूड डिलिवरी कंपनियों में शुमार ज़ोमैटो के फाउंडर और सीईओ हैं। दीपिंदर गोयल ने साल 2005 में आईआईटी दिल्ली से बीटेक की डिग्री हासिल की थी।


दीपिंदर ने अपने स्टार्टअप ज़ोमैटो की स्थापना साल 2008 में की थी और भारत के साथ ही अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और कनाडा समेत तमाम देशों में कारोबार कर रही ज़ोमैटो अब जल्द ही आईपीओ लाने की भी तैयारी कर रही है।


Edited by Ranjana Tripathi