[YS Impact] तमिलनाडु के सीएम ने ट्रांसजेंडरों के लिए मुफ्त बस सवारी पहल का संज्ञान लिया

By Shreya Ganguly & Ravi Pareek
May 10, 2021, Updated on : Wed May 12 2021 03:36:44 GMT+0000
[YS Impact] तमिलनाडु के सीएम ने ट्रांसजेंडरों के लिए मुफ्त बस सवारी पहल का संज्ञान लिया
YourStory तमिल की डिप्टी-एडिटर इंदुजा रघुनाथन के ट्वीट, जिसमें उन्होंने तमिलनाडु सरकार से महिलाओं की योजनाओं में ट्रांसजेंडरों के लिए मुफ्त बस सवारी का विस्तार करने का अनुरोध किया था, के जवाब में सीएम एमके स्टालिन ने कहा कि इस अनुरोध पर विचार किया जाएगा और जल्द ही एक निर्णय किया जाएगा।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

समाज में सबसे आम भूमिका जो मीडिया निभाता है, वह है जानकारी का एक सॉर्स, लेकिन यह उससे कहीं अधिक है। यह वॉचडॉग, इनफ्लुएंशर, और - सबसे महत्वपूर्ण बात, शायद - नागरिकों के दूत (messenger of the citizens) के रूप में कार्य करता है।


और हाल ही में YourStory तमिल टीम ने कुछ ऐसा ही किया है।


YourStory तमिल की डिप्टी-संपादक इंदुजा रघुनाथन के ट्वीट, जिसमें उन्होंने तमिलनाडु सरकार से महिलाओं की योजनाओं में ट्रांसजेंडरों के लिए मुफ्त बस सवारी का विस्तार करने का अनुरोध किया था, के जवाब में सीएम एमके स्टालिन ने कहा कि इस अनुरोध पर विचार किया जाएगा और जल्द ही एक निर्णय किया जाएगा।

"[गूगल ट्रांसलेशन] महिलाओं के कल्याण और अधिकारों के साथ ट्रांसजेंडर समुदाय के जीवन के बारे में सोचने के लिए पुराने समय से ही DMK सरकार की प्रथा रही है। इस पर ध्यान देने के लिए धन्यवाद। महिलाओं की तरह ट्रांसजेंडर लोगों को मुफ्त यात्रा देने के लिए विचार किया जाएगा और जल्द ही उचित निर्णय लिया जाएगा", ये बात तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने ट्विटर पर कही।


एमके स्टालिन, जिन्हें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई और शुक्रवार को पदभार ग्रहण किया, ने राज्य की मदद करने के लिए पहलों पर हस्ताक्षर करके अपना कार्यकाल शुरू किया। महिला यात्रियों के लिए मुफ्त बस सवारी पहल के अलावा, राज्य सरकार ने 2.07 करोड़ परिवारों को 4,000 रुपये की कोविड-19 राहत देने की भी घोषणा की।


इसके अलावा, रिपोर्टों से पता चला कि निजी अस्पतालों में कोविड​​-19 उपचार मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, इंदुजा ने कहा, “YourStory तमिल ने कोरोना महामारी के दौरान नौकरी खो चुके ट्रांसजेंडरों की दुर्दशा के बारे में कई कहानियों को कवर किया है, जिनको भोजन नहीं मिल पा रहा था, और वित्तीय बाधाओं का सामना करना पड़ रहा था। इन सभी को ध्यान में रखते हुए, मैं सरकार से नि: शुल्क परिवहन योजना का विस्तार करने का अनुरोध करना चाहती थी, जिससे उनका वित्तीय बोझ कम हो। कई लोगों ने ऐसा ही अनुरोध किया है और सरकार अब इस पर विचार कर रही है। अगर मंजूर हुआ, तो निश्चित रूप से यह उनके लिए बहुत बड़ी मदद हो सकती है।”


उन्होंने कहा कि इस पहल से निश्चित रूप से समुदाय को मदद मिलेगी क्योंकि वे परिवहन लागत के बारे में चिंता किए बिना नौकरियों पर जाने और लंबी दूरी तय करने में सक्षम होंगे।


राज्य सरकार को अपनी बात का संज्ञान लेने और तुरंत प्रतिक्रिया देने के लिए धन्यवाद देते हुए, इंदुजा ने कहा कि पत्रकारों को "बेजुबानों के लिए आवाज" बनने की जरूरत है, यह कहते हुए कि लोगों के अनुरोधों को सुनने वाली सरकार निश्चित रूप से अपार परिवर्तन लाएगी।