ChefKart ने Blume Ventures और Pravega Ventures के नेतृत्व में जुटाए 16 करोड़ रुपये

By रविकांत पारीक
July 25, 2022, Updated on : Mon Jul 25 2022 09:39:28 GMT+0000
ChefKart ने Blume Ventures और Pravega Ventures के नेतृत्व में जुटाए 16 करोड़ रुपये
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

गुरुग्राम स्थित एट-होम कुकिंग सर्विसेज प्लेटफॉर्म ChefKartने Pravega Ventures और Blume Ventures के नेतृत्व में 2 मिलियन डॉलर (करीब 16 करोड़ रुपये) जुटाए हैं. यह सीड फंडिंग राउंड था. इस राउंड में दीपिंदर गोयल, Titan Capital, कुणाल शाह, Tremis Capital, Lets Venture और अन्य प्रमुख ऐंजल इन्वेस्टर्स की भागीदारी देखी गई.


ChefKart लोकल कुक्स को ट्रेन्ड और प्रोफेशनल होम शेफ बनाता है जो वर्ल्ड-क्लास कूकिंग सर्विसेज मुहैया कराते हैं.


ताजा फंडिंग का उपयोग गुरुग्राम में सब्सक्रिप्शन-बेस्ड घर पर खाना पकाने की सेवाओं को बढ़ाने और अन्य भौगोलिक क्षेत्रों में विस्तार करने के लिए किया जाएगा. ऑफर किए गए प्रोडक्ट्स और सर्विसेज का उद्देश्य यूजर्स की कीचन की पूरी जरूरतों में क्रांतिकारी बदलाव लाना है. बिजनेस के लिए तात्कालिक लक्ष्यों में से एक ग्राहक अनुभव में सुधार करना और सर्विस प्रावाइडर्स के बीच टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देना है.


FICCI - PwC की रिपोर्ट के अनुसार, इंडियन फूड सर्विसेज मार्केट की वैल्यू 2022 में 5,52,000 करोड़ रुपये है. जिसमें अनऑर्गेनाइज्ड सेक्टर की बाजार हिस्सेदारी 57% से अधिक है. विश्वसनीय खाना पकाने की सेवाओं की भारी मांग है. ChefKart का लक्ष्य इस अप्रयुक्त क्षेत्र के श्रमिकों को विश्वसनीय सर्विस प्रोवाइडर्स में बदलकर इस अंतर को पाटना है.

at-home-ckkoing-services-startup-chefkart-raises-2-million-led-by-blume-ventures-pravega-ventures

ChefKart अनऑर्गेनाइज्ड होम कुकिंग स्पेस को बेहतर बनाकर हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री को बदल रहा है. कंपनी ने अन्य क्षेत्रों में आगामी विस्तार के लिए रणनीतिक योजनाओं के साथ, गुरुग्राम में हाइपरलोकल मार्केटिंग और सप्लाई कंट्रोल भी बनाया है. स्टार्टअप ने बिजनेस की नई लाइनें यानी Chefs for parties लॉन्च की, और टीम बिजनेस के विस्तार करने पर भी काम कर रही है.


ChefKart की स्थापना 2020 में वैभव गुप्ता, अमन गुप्ता और अर्पित गुप्ता द्वारा की गई थी ताकि विश्वसनीय घरेलू खाना पकाने की सेवाओं की कमी की समस्या को हल किया जा सके.


ChefKart के सीईओ और फाउंडर वैभव गुप्ता ने कहा, “हमने 3200+ से अधिक परिवारों को सेवा दी है और 15% MOM वृद्धि के साथ प्रतिदिन 2300+ से अधिक कुकिंग सेशन को मैनेज कर रहे हैं. 3 गुप्ता को-फाउंडर्स होने के नाते, कोस्ट-सेविंग हमारे डीएनए में है. अर्बन कंपनी ने अपनी शेफ सर्विसेज को फिर से बंद कर दिया और हमें बाजार में अग्रणी बना दिया. इससे हमें सफलता मिली है."


भारत की एट-होम कुकिंग इंडस्ट्री डिजिटाइजेशन के साथ विकास की अगली लहर के लिए तैयार है. ChefKart हर घर की जरुरत को टारगेट करता है. इसका उद्देश्य घर पर खाना पकाने की सेवाओं को सरल बनाना है.


Pravega Ventures के को-फाउंडर और पार्टनर मुकुल सिंघल ने कहा, “ChefKart जरूरी सर्विस को डिजिटाइज़ करने के विचार से प्रेरित है जो काफी हद तक अनऑर्गेनाइज्ड है. वे कस्टमर फूड वॉलेट पर धाक जमाने की कोशिश कर रहे हैं. लोकल कम्यूनिटी को भी सशक्त बनाकर, वे पूरी तरह से कस्टमर सप्लाई डिमांड चेन विकसित करने की राह पर हैं. यह एक चुनौतीपूर्ण प्रक्रिया हो सकती है, लेकिन ChefKart के सकारात्मक कैश साइकिल मॉडल ने भारत में एट-होम कुकिंग के तरीके को काफी हद तक बदल दिया है.”


ChefKart के सीओओ अर्पित गुप्ता ने कहा, “पार्टनर के हिसाब से देखा जाए, तो हम अपने होम शेफ की ऑनबोर्डिंग और स्टेट-ऑफ द आर्ट ट्रेनिंग प्रोसेस की दिशा में अथक प्रयास कर रहे हैं. यह सिर्फ शुरुआत है. अधिकांश लोग यह महसूस कर रहे हैं कि मल्टी-कुज़िन उनके घर के आराम में और उनके स्वाद के अनुसार हमारे प्लेटफॉर्म के माध्यम से आसानी से बनाए जा सकते हैं.”


परंपरागत रूप से, ग्राहक उपभोग के बाद भोजन से संबंधित सेवाओं के लिए भुगतान करते हैं, लेकिन सब्सक्रिप्शन-बेस्ड कॉन्सेप्ट इस मार्केट में काम करने के तरीको को बदल रहा है.