Policybazar का IT सिस्टम हुआ हैक, कंपनी ने उठाए कड़े कदम, जानिए हैकिंग से बचने के टिप्स

By रविकांत पारीक
July 25, 2022, Updated on : Mon Jul 25 2022 06:45:39 GMT+0000
Policybazar का IT सिस्टम हुआ हैक, कंपनी ने उठाए कड़े कदम, जानिए हैकिंग से बचने के टिप्स
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

इंश्योरेंस सेक्टर की दिग्गज कंपनी PolicyBazaarकी पैरेंट कंपनी PB Fintech ने रविवार को कहा कि कंपनी का IT सिस्टम 19 जुलाई को हैक कर लिया गया था. हालांकि, बाद में कंपनी ने तुरंत प्रभाव से सुधारात्मक कार्रवाई की और इसे ठीक कर लिया.


कंपनी ने 19 जुलाई को Policybazaar Insurance Brokers आईटी सिस्टम के एक हिस्से में कुछ कमजोरियों की पहचान की, जिससे नेटवर्क तक अवैध और अनधिकृत पहुंच हुई.


इंश्योरेंस ब्रोकरेज फर्म ने एक रेग्यूलेटरी फाइलिंग में कहा, "इस संबंध में, पॉलिसीबाजार ने अधिकारियों को जानकारी दी है. और कानून के अनुसार उचित कार्रवाई की जाएगी. पहचानी गई कमजोरियों को ठीक कर दिया गया है. कंपनी ने सिस्टम का डिटेल्ड ऑडिट शुरू भी किया है."


इन्फॉर्मेशन सिक्योरिटी टीम, बाहरी सलाहकारों के साथ मिलकर मामले को रिव्यू कर रही है.


कंपनी ने कहा, "हम इसका रिव्यू कर रहे हैं. शुरुआती रिव्यू में हमने पाया कि किसी भी तरह के जरूरी कस्टमर डेटा का नुकसान नहीं हुआ है. पॉलिसीबाजार ने हमेशा अपने सिस्टम की सुरक्षा और अखंडता को प्राथमिकता दी है और कस्टमर डेटा की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है."


Policybazaar की शुरुआत 2008 में इंश्योरेंस में ट्रांसपेरेंसी लाने के उद्देश्य से की गई थी. यह भारत के सबसे पुराने फिनटेक प्लेटफार्मों में से एक है. यह 2018 में प्रतिष्ठित युनिकॉर्न क्लब में शामिल हुआ था.

हैकिंग से बचने के टिप्स

यहां हम आपको कुछ बेहद जरूरी टिप्स दे रहे हैं, जो आपको साइबर अटैक या हैकर से बचाने में मददगार साबित हो सकते हैं.


  • कभी भी अननोन सोर्स से कोई भी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल नहीं करना चाहिए.


  • एंटी वायरस के नकली पॉप अप पर कभी क्लिक ना करें


  • अपने सिस्टम के ऑपरेटिंग सिस्टम को हमेशा अपडेट रखें


  • पब्लिक वाई-फाई नेटवर्क का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए.


  • अपने सिस्टम में एंटी-मालवेयर सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करना चाहिए.


  • हमेशा जरूरी डेटा और फाइल्स का बैकअप तैयार रखें.


  • हमेशा अपने सिस्टम पर नज़र रखनी चाहिए और कुछ अनचाही एक्टिविटी होने पर सतर्क हो जाना चाहिए.


  • डोमेन नाम या ईमेल एड्रेस में स्पेलिंग की गलतियों पर ध्यान दें. सायबर क्रिमिनल आम तौर पर उस तरह का ईमेल यूज करते हैं जो नामी कंपनियों का हो, बस वे उसमें थोडा सा हेर-फेर कर देते हैं, जिससे कि वह वास्तविक लगे.


  • किसी भी ऐसे लिंक पर क्लिक करने से पहले दो बार सोचें. अगर कोई संदिग्ध ईमेल दिखे तो उस पर क्लिक ना करें.


  • सायबर क्रिमिनल्स आम तौर पर आपको सुरक्षा के खतरे की धमकी देते हैं. ऐसे झांसे में ना आयें. स्थिति पर अपना दिमाग लगायें.


इन टिप्स को फॉलो करने से आप अपने अकाउंट और सिस्टम को हैकर से पूरी तरह सुरक्षित रख सकते हैं.