आ रहा है Metaverse बैंक, अब बदल जाएगी बैंकिंग की दुनिया

यह देखते हुए कि हर ग्राहक से यह उम्मीद नहीं की जा सकती कि उसके पास वर्चुअल बैंक जाने के लिए फैंसी वीआर हेडसेट हों, Easiofy ने एक ब्राउजर बेस्ड बैंकिंग मेटावर्स बनाया है. यह कैसे काम करेगा? यहां जानिए...

आ रहा है Metaverse बैंक, अब बदल जाएगी बैंकिंग की दुनिया

Saturday December 24, 2022,

4 min Read

कुछ समय बाद जब आप अपने बैंक की वेबसाइट पर लॉग इन करें, और ब्रांच मैनेजर का अवतार आपका स्वागत करे, तो आप आश्चर्यचकित मत हो जाइएगा. क्योंकि ये वास्तव में होने जा रहा है. भारतीय बैंक मेटावर्स की दुनिया में कदम रखने के लिए कमर कस रहे हैं.

Easiofy Solutions, जो वेब-बेस्ड ऑगमेंटेड रियलिटी (AR)-सॉल्यूशंस बनाता है, ने हाल ही में इंस्टीट्यूट फॉर डेवलपमेंट एंड रिसर्च इन बैंकिंग टेक्नोलॉजी (IDRBT) में चीफ इन्फॉर्मेशन सिक्योरिटी ऑफिसर्स (CISO) की बैठक में एक प्रोडक्ट डेमो दिया है.

"प्रतिक्रिया अच्छी थी और हमें बहुत प्रतिक्रिया मिली. हिंदी और गुजराती भाषी अवतार, जो बैंक कर्मचारियों की तरह दिखते थे और लोगों को बैंकिंग ट्रांजेक्शन करने में मदद कर सकते थे, पूरे बैंकिंग मेटावर्स के लिए एक नया दृष्टिकोण था. वर्तमान में, हम इंडियन ओवरसीज बैंक के साथ कॉन्सेप्ट के प्रूफ पर काम कर रहे हैं जिसे हम बैंक सीटीओ साथ होने वाली 5G इवेंट में दिखाएंगे. अब हमने वॉयस बायोमेट्रिक्स को एक अतिरिक्त ऑथेंटिकेशन फीचर के रूप में शामिल किया है जो सिस्टम की सुरक्षा के बारे में चिंताओं का जवाब देगा." फाइनेंशियल एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, Easiofy Solutions की को-फाउंडर और चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर (CTO) ने ये बात कही.

future-of-banking-metaverse-bank-easiofy-solutions-web-based-virtual-bank-avatar

सांकेतिक चित्र (freepik)

अपने ऑगमेंटेड रियलिटी (AR), वर्चुअल रियलिटी (VR) प्लेटफॉर्म को वेलिडेट करते समय Easiofy ने एक वर्चुअल बैंक वॉकथ्रू डेवलप किया था. इसके अलावा, यह ह्यूमन होलोग्राम पर काम कर रहा था, इशारों के लिए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) का उपयोग करके उन्हें ट्रेनिंग दे रहा था. जैसा कि वर्चुअल बैंक तैयार था, IDBRT के डोमेन एक्सपर्ट ने बातचीत के माध्यम से वर्चुअल बैंक में ग्राहकों का मार्गदर्शन करने के लिए अवतारों का उपयोग करने का सुझाव दिया. इसलिए, जब आप वर्चुअल बैंक में जाते हैं, तो सलवार कमीज पहने एक रिसेप्शन मेटा अवतार के साथ आपका स्वागत किया जाता है, जो आपको नमस्कार करता है और आपको उचित काउंटरों पर गाइड करता है. यदि आप अपने अकाउंट में बैलेंस चेक करना चाहते हैं, तो एक सेविंग काउंटर मेटा अवतार है जो आपकी जानकारी लेता है, वैरिफाई करता है कि यह वास्तव में आप ही हैं और आपको आपकी शेष राशि बताता है.

यह देखते हुए कि हर ग्राहक से यह उम्मीद नहीं की जा सकती कि उसके पास वर्चुअल बैंक जाने के लिए फैंसी वीआर हेडसेट हों, Easiofy ने एक ब्राउजर बेस्ड बैंकिंग मेटावर्स बनाया है. आपको इसे अपने फोन, टैबलेट, वीआर हेडसेट या डेस्कटॉप पर देखने के लिए बस एक लिंक की आवश्यकता है.

फातमा कहती हैं, "हम सबसे पहले उन फीचर्स पर इसे इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे हैं, जिन्हें कस्टमर सबसे ज्यादा यूज करते हैं: जैसे बैलेंस चेक करना, ट्रांजेक्शन करना, लोन के बारे में जानकारी हासिल करना, कस्टमर को शिक्षित करना. हम डिजिटल बैंकिंग के साथ-साथ फिजिकल बैंकिंग द्वारा पेश किए फीचर्स को इम्पलीमेंट करना जारी रखेंगे. अवतार के एनिमेशन और तौर-तरीकों में हर दिन सुधार हो रहा है क्योंकि हमें अधिक प्रतिक्रिया मिल रही है."

बहुभाषी भाषण (Multilingual speech) कार्यक्षमता एक बड़ा टास्क था. इसलिए इसने Reverie Language Technologies के वॉयस सूट को इंटीग्रेट किया जिसमें स्पीच-टू-टेक्स्ट (STT), नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग (NLP) और टेक्स्ट टू स्पीच (TTS) शामिल हैं.

Reverie Language Technologies के चिंतन पारिख, टेक्निकल लीड - Speech R&D, बताते हैं, "जब आप एक मल्टीलिंगुअल वॉयस बॉट के साथ बातचीत करते हैं, तो आप बॉट से बात कर रहे होते हैं और बॉट से सुन रहे होते हैं. लेकिन जब आप एक मल्टीलिंगुअल अवतार के साथ बातचीत कर रहे होते हैं, तो यह पूरी तरह से अलग अनुभव होता है क्योंकि जब अवतार बोल रहे होते हैं तो आप उसे भी देख रहे होते हैं. इसलिए, जब अवतार बोल रहा होता है और जब वह सुन रहा होता है तो उसकी गति यथार्थवादी होनी चाहिए. बोले जाने वाले कंटेंट के साथ लिप सिंक करने के लिए, स्पीच के साथ, हमारा TTS इंजन Viseme इवेंट भेजता है. Viseme बोली जाने वाली भाषा में स्वनिम के समान है. Viseme इवेंट्स का उपयोग करते हुए, अवतार के मुंह की गतिविधियों को कंट्रोल किया जाता है."

अभी तक, Easiofy के बैंकिंग अवतार 22 भाषाओं में बात करते हैं.

Easofy ने AIC, Banasthali के माध्यम से MEITY TIDE सीड फंड जुटाया है. Capgemini ने अपने 5G लैब में वॉल्यूमेट्रिक वीडियो और होलोग्राम में इसके रिसर्च को फंडिंग दी है. कंपनी अब अपने मेटावर्स बैंक के मुद्रीकरण पर काम कर रही है.

यह भी पढ़ें
कैसे रियल एस्टेट इंडस्ट्री की तस्वीर बदल रहा है मेटावर्स?