सरकार ने भंगार बेचकर कमाए 600 करोड़ रुपये, अक्टूबर तक 1,000 करोड़ का लक्ष्य

केंद्र ने बेकार फाइलों, बेकार पड़े उपकरणों और अप्रचलित वाहनों के रूप में कचरा बेचकर अगस्त तक 600 करोड़ रुपये का रेवेन्यू अर्जित करने में कामयाबी हासिल की.

सरकार ने भंगार बेचकर कमाए 600 करोड़ रुपये, अक्टूबर तक 1,000 करोड़ का लक्ष्य

Wednesday September 13, 2023,

2 min Read

कचरे का बेहतर इस्तेमाल करके, केंद्र ने स्क्रैप (भंगार) बेचकर लगभग ₹600 करोड़ की कमाई की है. सरकार का लक्ष्य अक्टूबर तक ₹1,000 करोड़ कमाने का है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, केंद्र ने बेकार फाइलों, बेकार पड़े उपकरणों और अप्रचलित वाहनों के रूप में कचरा बेचकर अगस्त तक ₹600 करोड़ का रेवेन्यू अर्जित करने में कामयाबी हासिल की.

अब, केंद्र अक्टूबर तक स्क्रैप बेचकर ₹1,000 करोड़ का भारी रेवेन्यू हासिल करने का लक्ष्य बना रहा है. समाचार एजेंसी पीटीआई ने इसकी जानकारी दी है. अगले महीने 'स्वच्छता' अभियान पूरा होने के बाद रेवेन्यू हासिल होने की उम्मीद है.

एजेंसी के अनुसार, एक अधिकारी ने कहा कि अभियान के दौरान, लगभग 50 लाख फाइलों को हटा दिया गया, 172 लाख वर्ग फुट कार्यालय स्थान खाली कर दिया गया और 'स्वच्छता' अभियान के दूसरे चरण के दौरान 31.35 लाख सार्वजनिक शिकायतों के मामलों का निवारण किया गया.

रेवेन्यू अर्जित करने के अलावा, 'स्वच्छता' अभियान के एक महीने तक चलने वाले तीसरे चरण के दौरान लगभग 100 लाख वर्ग फुट कार्यालय स्थान खाली होने की उम्मीद है.

केंद्र द्वारा आयोजित 'स्वच्छता' अभियान पहली बार अक्टूबर 2021 में शुरू किया गया था. यह स्वच्छता पर ध्यान केंद्रित करेगा, जिसमें स्क्रैप का निपटान और सरकारी विभागों में लंबित मामलों को कम करना शामिल है.

यह विशेष अभियान 'स्वच्छता' अभियान का तीसरा चरण है. यह सभी सरकारी विभागों में 2 से 31 अक्टूबर तक आयोजित किया जाएगा.

स्वच्छता अभियान दो चरणों में चलाया गया है. अब तक, यह 1.37 लाख जगहों पर आयोजित किया गया है, और भंगार में पड़ी चीजों से ₹520 करोड़ की कमाई हुई है.

अभियान के तीसरे चरण का उद्घाटन 14 सितंबर को केंद्रीय कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह करेंगे. यह चरण 30 सितंबर तक चलेगा. इस चरण के दौरान, सभी विभागों को लंबित संदर्भों और स्वच्छता के लिए अभियान स्थलों की पहचान करने की आवश्यकता होगी. तैयारी चरण के बाद, ये विभाग पहले निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए अपने कार्यबल को कार्रवाई में लाएंगे.

यह भी पढ़ें
NTPC ग्रीन एनर्जी लिमिटेड ने ग्रीन हाइड्रोजन प्रोडक्शन के लिए Nayara Energy के साथ मिलाया हाथ