कैसे Republic Day पर अपनी सेल्स बढ़ाती हैं कंपनियां, सबसे ज्यादा इस्तेमाल होते हैं ये 5 तरीके

By Anuj Maurya
January 26, 2023, Updated on : Thu Jan 26 2023 02:31:30 GMT+0000
कैसे Republic Day पर अपनी सेल्स बढ़ाती हैं कंपनियां, सबसे ज्यादा इस्तेमाल होते हैं ये 5 तरीके
गणतंत्र दिवस आज के वक्त में सिर्फ एक दिन नहीं, बल्कि एक बड़ा इवेंट है, जिसके जरिए कंपनियां अपनी सेल्स को बढ़ाने का काम करती हैं. आइए जानते हैं तमाम कंपनियां किन-किन तरीकों से ये करती हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

गणतंत्र दिवस (Republic Day) का तमाम कंपनियां अपनी मार्केटिंग और सेल्स के लिए कई तरीकों से फायदा उठाती हैं. कुछ कंपनियां इससे जुड़े विज्ञापन बनाती हैं तो कुछ अपने स्टोर्स की थीम गणतंत्र दिवस से जुड़ी हुई रखती है. कई कंपनियां तो ऐसी होती हैं जो देशभक्ति का जज्बा दिखाने वाले विज्ञापन ही बना डालती हैं और उससे ग्राहकों को लुभाने की कोशिश करती हैं. गणतंत्र दिवस आज के वक्त में सिर्फ एक दिन नहीं, बल्कि एक बड़ा इवेंट है, जिसके जरिए कंपनियां अपनी सेल्स को बढ़ाने का काम करती हैं. आइए जानते हैं किन-किन तरीकों से कंपनियां गणतंत्र दिवस के मौके का फायदा उठाती हैं.

1- SALE है सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला तरीका

बात सिर्फ गणतंत्र दिवस की ही नहीं है, बल्कि किसी भी इवेंट या त्योहार को मौके पर तमाम कंपनियां Sale लाती हैं. ये सेल तमाम बड़े मॉल्स से लेकर दुकानों तक में देखने को मिल जाती है. इसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल करती हैं ई-कॉमर्स वेबसाइट्स, जैसे अमेजन, फ्लिपकार्ट, जियो मार्ट आदि. इन वेबसाइट्स पर सेल लगाई जाती है, जिसमें शानदार ऑफर और डील्स दी जाती हैं. लोगों को भारी डिस्काउंट पर प्रोडक्ट बेच जाते हैं, जिससे कंपनियों की सेल्स अचानक से बढ़ जाती है.

2- गणतंत्र दिवस के थीम का होता है इस्तेमाल

बात भले ही किसी दुकान की हो, मॉल की हो या फिर किसी ई-कॉमर्स साइट की हो. हर जगह आपको एक चीज ये देखने को मिलेगी कि वह गणतंत्र दिवस के थीम का खूब इस्तेमाल करते हैं. दुकान या मॉल में घुसने से पहले ही आपको ढेर सारे तिरंगे झंडे दिखने लगते हैं. अंदर जो सजावट होती है वह भी तिरंगे को ध्यान में रखते हुए की जाती है. ऐसे में बहुत सारे लोग तो इस एक्सपीरिएंस के लिए भी मॉल चले जाते हैं और जब वहां चले ही जाते हैं तो कुछ पैसे भी खर्च कर लेते हैं. यहां तक कि अगर आप किसी ई-कॉमर्स साइट पर जाएंगे तो वहां भी आपको हर तरफ तिरंगे का थीम दिखेगा. इससे लोगों में देशभक्ति की भावना पैदा होती है और अगर ऐसे वक्त में देशभक्ति का हवाला देते हुए आपने कोई प्रोडक्ट बेचना चाहा तो बहुत से लोग उसे खरीदने के लिए आगे आएंगे.

3- देशभक्ति पर आधारित प्रोडक्ट बनाकर

ऐसी बहुत सारी कंपनियां हैं जो देशभक्ति को ध्यान में रखते हुए गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के आस-पास प्रोडक्ट बनाती हैं. जैसे मदर डेयरी के दूध को ही ले लीजिए. इन मौकों पर उसके पैकेट पर तिरंगा बना हुआ दिखने लगता है या तिरंगे के थीम पर ही पैकेट डिजाइन किया जाता है. इसी तरह टीशर्ट, बैग, खाने-पीने की चीजों के पैकेट समेत बहुत सारी चीजों को इसी तरह डिजाइन किया जाता है. इससे लोगों में देशभक्ति की भावना पैदा होती है और वह प्रोडक्ट की ओर आकर्षित होते हैं. कुछ कंपनियां तो देशभक्ति दिखाने वाले लिमिटेड एडिशन प्रोडक्ट भी बना देती हैं, जिनके लिए लोग अतिरिक्त कीमत भी चुका देते हैं. इतना ही नहीं, कई कंपनियां तिरंगे, हाथ में पहने जाने वाले बैंड, कैप जैसी चीजें भी बनाकर उन्हें बेचती है और पैसे कमाती है.

4- विज्ञापनों के जरिए भी उठाया जाता है फायदा

गणतंत्र दिवस हो या स्वतंत्रता दिवस या कोई और इवेंट, उसका सबसे ज्यादा फायदा तो तमाम कंपनियां विज्ञापन से उठाती हैं. इन इवेंट के दौरान टीवी से लेकर पेपर और इंटरनेट तक पर ऐसे विज्ञापन दिखते लगते हैं, जिसमें तिरंगे का या तिरंगे की थीम का इस्तेमाल किया जाता है. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर तो विज्ञापनों में बार-बार आजादी-आजादी भी कहा जाता है, ताकि आपका ध्यान खींचा जा सके. जैसे किसी इंश्योरेंस के विज्ञापन में परिवार के फ्यूचर की चिंता से आजादी की बात की जा सकती है. किसी म्यूचुअल फंड या सेविंग प्लान के विज्ञापन में वित्तीय आजादी की बात की जा सकती है.

5- मेड इन इंडिया प्रोडक्ट्स पर फोकस

काफी लंबे समय से ये कहा जा रहा है कि हमें आत्मनिर्भर होने की जरूरत है. खुद पीएम मोदी कई बार ये कह चुके हैं. ऐसे में गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लोगों को बार-बार मेड इन इंडिया कहकर सामान बेचने की कोशिश उन्हें आपके प्रोडक्ट की ओर खींचती है. मेड इन इंडिया प्रोडक्ट सुनते ही लोगों को मन में देशभक्ति की भावना पैदा होती है, जिससे उस प्रोडक्ट के बिकने के चांस और ज्यादा हो जाते हैं.