कोरोना काल में अपनी साइकिल के जरिये वृद्धजनों तक जरूरी दवा पहुंचा रहा है ये शख्स, ‘रिलीफ राइडर्स’ नाम से मशहूर है इनकी खास टीम

By शोभित शील
May 07, 2021, Updated on : Fri May 07 2021 07:19:11 GMT+0000
कोरोना काल में अपनी साइकिल के जरिये वृद्धजनों तक जरूरी दवा पहुंचा रहा है ये शख्स, ‘रिलीफ राइडर्स’ नाम से मशहूर है इनकी खास टीम
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

"41 साल के संथाना एक आईटी फर्म में बतौर प्रोग्राम मैनेजर काम करते हैं। संथाना ने महामारी के इस कठिन समय को देखते हुए जरूरतमंद लोगों और खासकर बुजुर्गों की मदद करने का निर्णय लिया, इसके लिए उन्होने अपना नंबर बाकायदा सोशल मीडिया पर भी शेयर किया जिससे लोग उन तक आसानी से पहुँच सकें।"

k

फोटो साभार: सोशल मीडिया

कोरोना महामारी की खतरनाक दूसरी लहर के बीच बड़ी संख्या में लोग जरूरतमंदों की मदद करते हुए नज़र आ रहे हैं। ऐसे ही एक शख्स हैं हैदराबाद के संथाना सेलवन, जो इस कठिन समय के दौरान अपनी साइकिल के जरिये बुजुर्गों तक जरूरी दवाएं पहुंचा रहे हैं।


गौरतलब है कि देश में कोरोना महामारी का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है और गुरुवार को बीते 24 घंटे में देश में कोरोना संक्रमण के 4 लाख 14 हज़ार से भी अधिक नए मामले दर्ज़ किए गए हैं

क्या करते हैं संथाना

41 साल के संथाना एक आईटी फर्म में बतौर प्रोग्राम मैनेजर काम करते हैं। संथाना ने इस कठिन समय को देखते हुए जरूरतमंद लोगों और खासकर बुजुर्गों की मदद करने का निर्णय लिया, इसके लिए उन्होने अपना नंबर बाकायदा सोशल मीडिया पर भी शेयर किया जिससे लोग उन तक आसानी से पहुँच सकें। संथाना की इस सोशल मीडिया पोस्ट के बाद लोग उनके इस काम की खूब तारीफ कर रहे हैं। संथाना ने यह बेहद खास मुहिम 30 अप्रैल शुरू की थी।

अब बुजुर्ग जरूरी दवाओं के लिए संथाना से संपर्क करते हैं और वह अपनी साइकिल के जरिये जल्द से जल्द जरूरतमंद बुजुर्गों तक दवा पहुंचाने का काम करते हैं। संथाना और उनकी इस खास साइकलिस्ट टीम को ‘रिलीफ राइडर्स’ के नाम से भी लोग जान रहे हैं।

जुड़े अन्य लोग

यूं तो जब संथाना ने इस पहल की शुरुआत की तब वह अकेले ही थे, लेकिन जल्द ही उनके साथ बड़ी संख्या में वॉलंटियर जुड़ने शुरू हो गए और फिलहाल करीब 100 से अधिक लोग उनकी इस नेक नाम में सहायता कर रहे हैं। इनमें से अधिकतर लोग खुद भी आईटी इंडस्ट्री से जुड़े हुए है। संथाना उनकी टीम इस कम को करते हुए कोविड गाइडलाइन को पूरी तरह फॉलो करती है।


संथाना के साथ ये सभी वॉलंटियर अपने ऑफिस के समय से पहले और उसके बाद में बुजुर्गों के पास अपनी साइकिल से पहुँचकर उन्हे जरूरी दवाएं उपलब्ध कराते हैं। संथाना ने मीडिया से बात करते हुए बताया है कि अब जब उनके साथ जुड़ने वाले वॉलंटियर की सख्या अधिक होती जा रही है तो उन्होने ऐसे जरूरतमंद बुजुर्गों के लिए दवाओं के साथ खाना और अन्य जरूरी वस्तुओं को भी उपलब्ध कराना शुरू कर दिया।

‘साइकिल मेयर ऑफ हैदराबाद’

k

संथाना को एम्स्टर्डम आधारित BYCS द्वारा ‘साइकिल मेयर ऑफ हैदराबाद’ सम्मान से भी नवाजा गया है। संथाना के अनुसार जब तक कोरोना महामारी जारी रहेगी वह और उनकी यह टीम के साथी इसी तरह जरूरतमंद लोगों की मदद करते रहेंगे।


मीडिया के साथ हुई बातचीत में संथाना ने यह बताया है कि इस समय शहर में बहुत से बुजुर्ग लोग ऐसे हैं जिनकी देखभाल के लिए कोई भी मौजूद नहीं है और उनकी टीम ऐसी ही कठिन परिस्थितियों में उन सभी के लिए खड़ी है। इसी के साथ संथाना ने देश भर के युवाओं से यह अपील भी की है कि वह सभी इस कठिन समय में आगे आएं और जरूरतमंद लोगों की मदद करें।


इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार हैदराबाद में रह रहे जरूरतमंद बुजुर्ग संथाना से 9566170334 पर सुबह 6 से 9 बजे और शाम 6 से 9 बजे तक मदद के लिए संपर्क कर सकते हैं।


Edited by Ranjana Tripathi