बच्चों के लिए इस महिला उद्यमी के लर्निंग ऐप को केवल 6 महीनों में मिले 10 लाख डाउनलोड

By Rekha Balakrishnan
March 23, 2021, Updated on : Tue Mar 23 2021 04:55:44 GMT+0000
बच्चों के लिए इस महिला उद्यमी के लर्निंग ऐप को केवल 6 महीनों में मिले 10 लाख डाउनलोड
प्रेरणा झुनझुनवाला क्रिएटिव गैलीलियो (Creative Galileo) की संस्थापक हैं, जिनका लिटिल सिंघम बच्चों के लिए एक अर्ली लर्निंग ऐप है जो संख्यात्मकता (numeracy), भाषा, सामाजिक और भावनात्मक विकास, मोटर स्किल, रचनात्मक अभिव्यक्ति और दुनिया की खोज को लेकर क्वालिटी कंटेंट प्रदान करता है।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

प्रेरणा झुनझुनवाला अपने पिता को याद करते हुए कहती हैं कि वह महज 12 साल की थीं, जब उनके पिता वे उनसे अपनी फैक्टरी में 3,000 श्रमिकों की एक सभा को संबोधित करने के लिए कहा था।


वे कहती हैं, “उनके सामने खड़े होने के दौरान, मुझे केवल यह याद था कि मेरे पिता ने मुझे क्या सिखाया है: मजबूत रहो, कभी न डरो, और खुद पर विश्वास रखो। मेरे बढ़ते वर्षों में, ऐसे कई उदाहरण और अनुभव हैं जहाँ मैंने अपने माता-पिता से कड़ी मेहनत, टीम बिल्डिंग, प्रतिबद्धता और समर्पण सीखा। जब मैं पीछे मुड़कर देखती हूं, तो मुझे एहसास होता है कि वे मेरे बढ़ते वर्षों के दौरान सबसे अच्छी सीख थीं, और मैं उन्हें अपने जीवन के हर पहलू में इस्तेमाल करती हूं।"


उद्यमियों के परिवार से आने वाली प्रेरणा कोलकाता और नई दिल्ली में पली-बढ़ी, जहाँ उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की। बाद में उन्होंने NYU स्टर्न स्कूल ऑफ बिजनेस से ग्रेजुएट किया।

बच्चों की शिक्षा के लिए जुनून

जब वह सिंगापुर मूव हुईं, तो प्रेरणा ने 60 बच्चों और 10 शिक्षकों के साथ अपना पहला स्कूल लिटिल पैडिंगटन शुरू किया। आज, वह कहती हैं कि इसमें 60 से अधिक नेशनालिटी के 600 से अधिक बच्चे हैं और 140 शिक्षक विभिन्न शिक्षाविदों के माध्यम से सर्वश्रेष्ठ ज्ञान प्रदान करते हैं।

Little Singham ऐप का स्क्रिन शॉट

Little Singham ऐप का स्क्रिन शॉट

बचपन से नई चीजों और शिक्षा को सीखने के उनके जुनून ने उन्हें पिछले साल तीन और आठ साल की उम्र के बच्चों के लिए क्रिएटिव गैलीलियो के लिटिल सिंघम ऐप शुरू करने के लिए प्रेरित किया।


वे कहती हैं, “पूरे भारत में बड़े पैमाने पर यात्रा करने के बाद, मैं उस अभाव के बारे में कल्पना करना कभी बंद नहीं कर सकती थी जो अस्तित्व में था। जहां टीयर I शहरों में उच्च शिक्षा के लिए उत्कृष्ट पहुंच थी, तो वहीं टीयर II और III शहरों में इन सुविधाओं का अभाव था। इस अभाव ने मुझे एहसास दिलाया कि अच्छी शिक्षा भारत के प्रत्येक बच्चे के अधिकार में एक विशेषाधिकार है। अपने जीवन में बहुत जल्द ये सब देख चुकी, मैंने शिक्षा को लोकतांत्रिक बनाने की दिशा में काम करने का मन बना लिया, जिससे भारत के दूरस्थ भागों में भी बच्चों के लिए यह सुलभ हो सके।”


वह हालिया शोध की ओर भी इशारा करती हैं जो कहता है कि कक्षा 3 में 94 प्रतिशत बच्चे बुनियादी अंग्रेजी और गणित नहीं कर सकते। वह लिटिल सिंघम - अर्ली लर्निंग ऐप के साथ इस परिदृश्य को बदलने के लिए उनके शुरुआती वर्षों में बच्चों को क्वालिटी कंटेंट और सीखने का अनुभव प्रदान करना चाहती हैं।


प्रेरणा ने महामारी का लाभ उठाया जिसके चलते आए उथल-पुथल के कारण शिक्षा क्षेत्र में महत्वपूर्ण परिवर्तन हुआ। स्कूलों के बंद होने के साथ, इस क्षेत्र ने छात्र ई-लर्निंग और इसी तरह के प्लेटफार्मों में एक जबरदस्त बदलाव देखा और जिसको देखते हुए उन्होंने भी छोटे बच्चों के लिए ई-लर्निंग ऐप बनाने का पाया।


वह बताती है, “हमारा ऐप लोकप्रिय बच्चे के कैरेक्टर, लिटिल सिंघम पर आधारित है। सिंगापुर में मेरे स्कूल का निर्माण करते समय मेरा बच्चों के साथ करीबी जुड़ाव था, तब मैंने महसूस किया कि एक कुछ ऐसा होना चाहिए जो बच्चों के लिए सीखने को मजेदार बनाता हो। उदाहरण के लिए, स्कूल में हमारा पसंदीदा विषय भी हमारे पसंदीदा शिक्षक के साथ हुआ करता था। हमने बच्चों के पसंदीदा कैरेक्टर्स को उनके सीखने के हिस्से के रूप में पेश करने का फैसला किया, जहां वे खुद को उनके साथ जोड़ सकते हैं और एक मजबूत संबंध महसूस कर सकते हैं।”

सीखने के वर्षों में एक मजबूत नींव

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर, कई ऐप सीखने को मजेदार और आकर्षक बनाने के लिए कैरेक्टर-बेस्ड अर्ली लर्निंग पर ध्यान केंद्रित करते हैं, उदाहरण के लिए, Peppa Pig, Sesame Street, डोरा द एक्सप्लोरर आदि, लेकिन प्रेरणा का मानना है कि भारत में ऐसा कोई ऐप नहीं है जो शिक्षा को मजेदार रखते हुए तीन से आठ साल की उम्र के बच्चों के लिए मूलभूत शिक्षा को पूरा करता हो।

क

लिटिल सिंघम व्यक्तिगत और एकीकृत सीखने के लिए पुरस्कार विजेता रचनाकारों से एक क्यूरेटेड पाठ्यक्रम प्रदान करता है।


वे कहती हैं, “हमारा ऐप एक कैरेक्टर-बेस्ड अर्ली लर्निंग वाला ऐप है, जो यह सुनिश्चित करने पर ध्यान केंद्रित करता है कि बच्चों को संख्यात्मकता, भाषा, सामाजिक और भावनात्मक विकास, मोटर स्किल, रचनात्मक अभिव्यक्ति और दुनिया की खोज के छह सीखने के डोमेन में एक मजबूत नींव हो। इन लर्निंग डोमेन को विडियो, गेम और ई-बुक्स के अनुरूप थीम में कैद किया गया है, जिसमें बच्चों को सीखने और विचारों को बनाए रखने में मदद करने के लिए एक सिंगल कॉन्सेप्ट है।"


प्रेरणा, अनुनय के की मदद लेती हैं, जिनके पास बच्चों के लिए खेल और इंटरैक्टिव डिजिटल प्लेटफार्मों के निर्माण में 16 साल का अनुभव है। वह आठ साल तक वॉल्ट डिज्नी के साथ जुड़े रहे।


ऐप को फ्री में डाउनलोड किया जा सकता है, यह भारतीय उपमहाद्वीप के बच्चों को टारगेट करता है और नेपाल, बांग्लादेश और पाकिस्तान से भी इसको डाउनलोड किया गया है। भारत में, प्रेरणा कहती हैं, वे टीयर II और III शहरों से बड़े पैमाने पर डाउनलोड देख रही हैं।


प्रेरणा का दावा है कि कुछ ही महीनों में, लिटिल सिंघम ऐप ने पूरे भारत में 4.8 स्टार्स की ऐवरेज रेटिंग के साथ एक मिलियन (10 लाख) डाउनलोड देखे हैं। इस अवधि में इसने 200,000 मंथली एक्टिव युनिक यूजर्स को भी देखा है।


वर्तमान में बूटस्ट्रैप्ड स्टार्टअप के लिए संस्थापक धन जुटाने के लिए प्रमुख भारतीय वीसी के साथ बातचीत कर रहे हैं।


प्रेरणा कहती हैं, "हम मानते हैं कि क्रिएटिव गैलीलियो अगले पांच वर्षों में कई लोकप्रिय कैरेक्टर्स के साथ बच्चों के लिए ई-लर्निंग का युनिवर्स बन जाएगा। हमारी रणनीति सरल है - देश के दूरस्थ भागों में घुसना और रणनीतिक रूप से एजुटेनमेंट कंटेंट का चयन करना जो सीखने के लिए महत्वपूर्ण सुदृढीकरण की पेशकश कर सकता है। हम अगले 18 महीनों में 10 मिलियन डाउनलोड की उम्मीद कर रहे हैं, और क्षेत्रीय भाषाओं को जोड़ रहे हैं।"


वह कहती हैं, "हम स्मार्ट लर्निंग की यात्रा शुरू करने के लिए तैयार हैं जो बच्चों के सीखने के स्तर का आकलन करती है और उनके सीखने के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए उनकी गतिविधियों की योजना बनाती है, माता-पिता को उनके सुधार के लिए नियमित रूप से अपडेट प्रदान करता है।"