इंस्पेक्शन को ऑटोमैटिक करने के साथ लॉजिस्टिक सपोर्ट प्रदान कर रहा है इस महिला आंत्रप्रेन्योर का ड्रोन सर्विस स्टार्टअप

By Rekha Balakrishnan
April 28, 2022, Updated on : Thu Apr 28 2022 05:39:59 GMT+0000
इंस्पेक्शन को ऑटोमैटिक करने के साथ लॉजिस्टिक सपोर्ट प्रदान कर रहा है इस महिला आंत्रप्रेन्योर का ड्रोन सर्विस स्टार्टअप
निहारिका कोल्टे Volar Alta की संस्थापक हैं। यह एक स्टार्टअप है जो इंस्पेक्शन यानी निरीक्षण को ऑटोमैटिक करने और इंडस्ट्री में प्रिडिक्टिव मेंटेनेंस की सुविधा के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) और मशीन लर्निंग (ML) का इस्तेमाल करता है।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

निहारिका कोल्टे के उद्यमिता के क्षेत्र में जाने के पीछे एक दिलचस्प कहानी है। निहारिका ने कॉमर्स में बैचलर की पढ़ाई पूरी करने के बाद, एक एनालिस्ट के रूप में अपना करियर शुरू किया और स्टार्टअप शुरू करने से पहले उन्होंने पीडब्ल्यूसी और केपीएमजी में विलय और अधिग्रहण (मर्जर एंड एक्विजिशन) और रियल एस्टेट स्पेस में पांच साल से अधिक समय तक काम किया।

निहारिका कोल्टे

निहारिका कोल्टे


डील की पूरी प्रक्रिया के बारे में सोचते हुए, उन्होंने महसूस किया कि एक विलय और अधिग्रहण डील के तकनीकी पहलुओं को पूरा होने में सबसे लंबा समय लगता है और यह एक निवेश बैंकर के लिए डील का सबसे उबाऊ चरण होता है। उन्होंने सोचा कि अगर कोई कंपनी सोलर ऐसेट्स के GWs को बेच रही है, तो तकनीकी पहलुओं को केवल रैंडम सैंपलिंग के आधार पर जांचा जाएगा। उदाहरण के लिए, कुछ सौर पैनलों को टेस्टिंग के लिए चुना जाएगा - इसका मतलब होगा कि पूरे प्लांट के लिए सही और सटीक डेटा नहीं मिलेगा।


निहारिका बताती हैं, "मैंने लंबे समय तक इस समस्या को ठीक करने के लिए ड्रोन की क्षमता पर रिसर्च किया। मुझे लगा कि ड्रोन न केवल इंस्पेक्शन के लिए लगने वाले समय को कम करने में मदद कर सकते हैं, बल्कि किसी भी औद्योगिक संपत्ति के संचालन और रखरखाव के लिए एक सुरक्षित, पॉकेट-फ्रेंडली तरीके से अत्यधिक वैल्यू जोड़ सकते हैं।”


यह स्पष्ट हो गया कि कृषि और रियल एस्टेट से लेकर एनर्जी, केमिकल, मनोरंजन तक के इंडस्ट्री में कई मामलों के लिए एक ही टूल को तैनात किया जा सकता है।


इस अहसास के कारण Volar Alta का गठन हुआ, जिसका उद्देश्य ड्रोन-आधारित इंस्पेक्शन और निगरानी के लिए वन-स्टॉप समाधान होना है।


निहारिका ने महसूस किया कि एक टेक्निकल टूल के रूप में ड्रोन का इस्तेमाल करने का एक बड़ा प्रभाव कई इंडस्ट्री के डिजिटल परिवर्तन में होगा और संचालन, डाउनटाइम और सुरक्षा की लागत पर महत्वपूर्ण और सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।


वे कहती हैं, "ड्रोन-आधारित इंस्पेक्शन/ डिलीवरी न केवल CO2 उत्सर्जन को कम कर सकते हैं, बल्कि सीमित स्थानों और खतरनाक वातावरण में काम करके, फर्स्ट इमरजेंसी रिस्पॉन्डर के रूप में काम करके, या ब्लड बैग, जीवन रक्षक दवाएं और टीके जैसी महत्वपूर्ण आवश्यक वस्तुओं को डिलीवर करके संभावित रूप से जीवन बचा सकते हैं।”

दो तरफा बाजार

2020 में शुरू होने के एक महीने के भीतर, महामारी की मार पड़ी और निहारिका को सब कुछ रोकना पड़ा। लेकिन उन्होंने एक स्मार्ट समाधान के बारे में सोचा: क्यों न पुलिस बलों की मदद के वास्ते कंटेनमेंट जोन में निगरानी रखने के लिए ड्रोन को बतौर एक टूल इस्तेमाल किया जाए?


टीम ने पुणे पुलिस और पीसीएमसी के साथ मिलकर ड्रोन फेडरेशन ऑफ इंडिया के साथ काम किया और अपना कारोबार शुरू किया।


Volar Alta दो बिजनेस वर्टिकल ऑफर करता है:


इंटरनल ऐसेट्स इंस्पेक्शन: Volar Alta का मानना है कि ड्रोन-आधारित ऐसेट्स इंस्पेक्शन एक रुटीन बन जाएगा और इसके परिणाम स्वरूप सटीक, एक्शन लेने योग्य डेटा मिलेगा। इससे मरम्मत में कमी आएगी और उस ऐसेट की उम्र में वृद्धि करते हुए उसके परफॉर्मेंस में सुधार होगा। यह सीमेंट, स्टील और केमिकल से लेकर अक्षय ऊर्जा, और तेल और गैस तक के उद्योगों को आंतरिक और बाहरी निरीक्षण सेवाएं प्रदान करता है।


ड्रोन-बेस्ड लॉजिस्टिक्स: स्टार्टअप का लक्ष्य ड्रोन की दुनिया का उबर बनना है। स्टार्टअप चाहता है कि इसका हर डिलीवरी ड्रोन वापस बेस पर लौटने से पहले हवा में रहते हुए एक बार में कम से कम चार डिलीवरी को अंजाम दे। इस प्रकार, जहां इसका डिमांड-साइड ऐप बिजनेस को ड्रोन ऑपरेटरों से जोड़ता है, वहीं इन ऑपरेटरों के लिए इसका हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर बंडल उनके लिए उस मांग को पूरा करने के लिए इसे अधिक लाभदायक बनाता है।


निहारिका ने कंपनी को मुंबई और पुणे में लॉन्च किया। स्टार्टअप अभी तक ड्रोन की मैन्युफैक्चरिंग नहीं करता है, लेकिन यह एक ही उड़ान में कई डिलीवरी की सुविधा के लिए इंटेलिजेंस कस्टम स्टोरेज पेलोड का निर्माण करता है।


Volar Alta वर्तमान में पांच लोगों की एक टीम है और कॉन्ट्रैक्ट पर 10 पायलट प्रोजेक्ट चला रही है।


वे कहती हैं, "हम मैन्युफैक्चरिंग, केमिकल, एनर्जी और रियल एस्टेट सेक्टर्स में क्लाइंट्स को आंतरिक और बाहरी निरीक्षण सेवाएं प्रदान करते हैं। इन सेवाओं में थर्मोग्राफी से लेकर भूमि सर्वेक्षण (लैंड सर्वे), निर्माण प्रगति निगरानी, सिक्योरिटी और सर्विलांस, और महत्वपूर्ण ऐसेट्स विजुअल्स तक शामिल हैं।”


यह एसीसी, अंबुजा सीमेंट, अदानी और टीयूवी रीनलैंड सहित कई क्लाइंट्स की आंतरिक और बाहरी निरीक्षण आवश्यकताओं को सपोर्ट करता है।


30 मार्च को लॉन्च किए गए ड्रोन का इस्तेमाल करके फर्स्ट-मील, मिड-मील और लास्ट-मील डिलीवरी की सुविधा के लिए इसके तकनीकी प्लेटफॉर्म के बीटा वर्जन में KEMHRC, उत्तराखंड राज्य स्वास्थ्य विभाग, पुणे जिला परिषद और बायोजेनिक्स लैब्स जैसे ग्राहक हैं।


Volar Alta का राजस्व मॉडल या तो प्रति-ऐसेट्स या प्रतिदिन के आधार पर काम करता है, और यह उस इंडस्ट्री पर निर्भर करता है जिसके लिए वह इंस्पेक्शन करता है। लॉजिस्टिक्स के लिए, यह एक साधारण पे-पर-ट्रिप मॉडल है।

दक्षता बढ़ाना, समय की बचत करना

निहारिका आसान शब्दों में समाधान के बारे में बताती हैं।


वे कहती हैं, “भारत में एक सीमेंट कंपनी साइलो और साइक्लोन सहित अपने इक्विपमेंट का इंटरनल इंस्पेक्शन करने के लिए ड्रोन तैनात करना चाहती थी। ऐसे में अंदर से उस जगह या ऐसेट्स की स्थिति को समझने के लिए, उन्हें न केवल विजुअल डिफेक्ट को खोजने के लिए जनशक्ति को तैनात करना होगा बल्कि मचान भी खड़ा करना होगा।"


निहारिका कहती हैं, "इन परिस्थितियों में अगर पारंपरिक निरीक्षण किया जाता है तो उच्च लागत आएगी और ऐसा करने में कई दिन लगेंगे जिसका मतलब होगा कि प्लांट को बंद करना पड़ेगा, जो सीधे उसके उत्पादन को प्रभावित करेगा।"


सीमेंट साइलो वे गोदाम हैं जहां सीमेंट और अन्य राख मटेरियल को कंक्रीट/मोर्टार प्रोडक्शन के लिए स्टोर किया जाता है।


साइक्लोन प्रीहीटर नई ड्राई प्रोसेस सीमेंट प्रोडक्शन तकनीक का मुख्य उपकरण है। यह रोटरी किल्न (घूर्णन भट्ठी) की लंबाई को छोटा करने के लिए कच्चे माल को पहले से गरम करने और आंशिक रूप से विघटित करने के लिए सस्पेंशन प्रीहीटिंग मैथेड का इस्तेमाल करता है, और साथ ही कच्चे माल और भट्ठे में गर्म गैस का प्रवाह पूरा करता है।


64 साइक्लोन के लिए, मचान को खड़ा करने में केवल छह दिन और मैनुअल विजुअल इंस्पेक्शन के लिए अन्य पांच दिन लगेंगे। समस्या का पता लगाने के लिए इन 11 दिनों के अलावा, मरम्मत के लिए कुछ और दिनों की आवश्यकता होगी।


ड्रोन के साथ, Volar Alta ने तीन दिनों में 64 साइक्लोन का इंस्पेक्शन पूरा किया; इसे केवल छह साइक्लोन के साथ समस्याएं मिलीं। यानी केवल इन्हीं के लिए मचान और मरम्मत का काम किया गया था, जिससे लगभग आठ दिनों के शटडाउन समय की बचत हुई।


इंस्पेक्शन स्पेस में, यह Aerodyne [सेवा प्रदाता], गरुड़, Airpix, आदि के साथ प्रतिस्पर्धा करता है, जबकि लॉजिस्टिक और सड़क-आधारित परिवहन सेवाओं में, अन्य ड्रोन निर्माता जैसे Zipline, Marut Drones, और Redwing Labs संभावित प्रतिस्पर्धी होंगे।


वोलर अल्टा को अब तक तीन ग्रांट मिले हैं - आईआईएम-बैंगलोर से 3.75 लाख रुपये, निधि प्रयास स्कीम से 8 लाख रुपये, भारत सरकार - फोर्ज फॉरवर्ड, और यूके एफसीडीओ - ब्रिटिश उच्चायोग से 70 लाख रुपये। यह आईआईएम-बी एनएसआरसीईएल द्वारा 'महिला स्टार्टअप कार्यक्रम' का हिस्सा है।


निहारिका बताती हैं, “स्थापना के बाद से, हमने लगभग 10 गुना वृद्धि देखी है। सबसे बड़ी चुनौती ग्राहकों को समझाना और बेचने की प्रक्रिया को छोटा करना था। हालांकि, ड्रोन की प्रभावकारिता के सफल प्रदर्शन के साथ, हमारे ग्राहकों ने अपनी रणनीति को सिंगल प्रोजेक्ट से बदलकर रेट कॉन्ट्रैक्ट में बदल दिया है क्योंकि यह न केवल उन्हें एक बेहतर रेट देता है, बल्कि उन्हें एक क्यूरेटेड और सुविधाजनक एंड-टू-एंड अनुभव भी देता है।”


वोलर अल्टा के लिए निहारिका की योजना ड्रोन-लॉजिस्टिक्स इकोसिस्टम में योगदान करना है और ड्रोन-आधारित डिलीवरी को मुख्यधारा की वास्तविकता बनाने के लिए मानकों और प्रक्रियाओं को स्थापित करना है।


Edited by Ranjana Tripathi