Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ys-analytics
ADVERTISEMENT
Advertise with us

पढ़ें या नौकरी करें? मात्र एक क्लिक पर इस समस्या का समाधान दे रहा है ये स्टार्टअप

पढ़ें या नौकरी करें? मात्र एक क्लिक पर इस समस्या का समाधान दे रहा है ये स्टार्टअप

Monday June 10, 2019 , 6 min Read

MyMBACircle

MyMBACircle की टीम


हर स्टूडेंट का सपना होता है कि या तो उसे किसी टॉप के कॉलेज में एडमिशन मिले या फिर किसी बड़ी कंपनी में जॉब। लेकिन ज्यादातर स्टूडेंट्स इस बात को लेकर सुनिश्चित नहीं हो पाते कि उन्हें अभी आगे पढ़ाई करनी चाहिए या किसी टॉप के कॉलेज में एडमिशन लेना चाहिए। उन्हें नहीं मालूम कि वे इस लक्ष्य को कैसे हासिल करें। ऐसे मामलों में, आपको किसी ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता होती है जो आपकी बात सुने और आपके लिए सबसे अच्छा निर्णय लेने में मदद करे।


इस 'समस्या' को देखते हुए, शिकागो स्थित नकुल गुप्ता ने MyMBACircle.com की शुरुआत की। नकुल कहते हैं, "हमारी दृष्टि सबसे बड़ा और सुलभ कैरियर और शिक्षा मेंटरशिप प्लेटफॉर्म बनाने की है - जो जॉब और हायर स्टडी करना चाह रहे आवेदकों को सस्ती मेंटरशिप सहायता प्रदान कर सके।" यह प्लेटफॉर्म अपने-अपने फील्ड के टॉप क्यूरेटेड मेंटरों को उन आवेदकों से जोड़ता है जो हायर एजुकेशन और अपने करियर के बारे में मार्गदर्शन चाहते हैं, लेकिन नेटवर्क अच्छा न होने और पैसों की कमी के कारण सही दिशा हासिल नहीं कर पाते हैं। मेंटर्स की लिस्ट में वर्तमान छात्र और दुनिया भर के शीर्ष एमबीए कार्यक्रमों के पूर्व छात्र भी शामिल हैं।


2018 में स्थापित, शिकागो स्थित यह स्टार्टअप महत्वपूर्ण कंटेंट फ्री में उपलब्ध कराता है इसके अलावा सस्ती और तत्काल वन-ऑन-वन कोचिंग प्रदान करता है। MyMBACircle.com भारत सहित दुनिया भर के प्रमुख विश्वविद्यालयों और कंपनियों के लिए मार्गदर्शन प्रदान करता है। भारत में, MyMBACircle.com लोगों को MBB (McKinsey & Company, Boston Consulting Group and Bain & Company) में कंसल्टिंग जॉब और टेक जॉब दिलाने के अलावा इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस (Indian School of Business ISB) जैसे संस्थानों में जाने में मदद करता है। टीम अब तक लगभग 300 भारतीय ग्राहकों की काउंसलिंग करने का दावा करती है।





नकुल ने बिजनेस स्कूल - जुआन पाब्लो ईस्टन, और केटी ओरोवेज - से अपने दोस्तों के साथ कंपनी शुरू की, जो पहले बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप और डेलोइट जैसी कंसल्टिंग फर्मों में काम कर चुके थे और फर्म, गूगल, वीमॉक व शिपबॉब में प्रोडक्ट मैनेजमेंट संभालते थे। MyMBACircle.com शुरू करने से पहले, उन्होंने विभिन्न देशों के कुल 250 कंडीडेट्स को कोचिंग दी है, जिसमें शीर्ष कंपनियों और बी-स्कूलों में 15 लोगों को भेजने में सफल रहे। वर्तमान में, MyMBACircle.com 10 सदस्यों की एक टीम है।


यह कैसे काम करता है?


MyMBACircle.com के दो तरह के क्सटमर्स हैं: मेंटर्स (mentors) और मेंटीज (mentees)। यह प्लेटफॉर्म एक फ्रीमियम मॉडल पर ऑपरेट होता है। कस्टमर्स को मेंटर से 15 मिनट की कॉल मिलती है। इससे पहले साइन-अप के दौरान कस्टमर्स को अपनी मूल जानकारी जैसे रिज्यूम और ईमेल आईडी उपलब्ध करानी होती है। मेंटर्स सहायता लेने वाले शख्स की नौकरी पाने की प्रक्रिया से लेकर कॉलेज में एडमिशन लेने तक हर स्टेप्स पर सहायता कर सकते हैं। सहायता लेने वाले कस्ट्मर्स को उसकी च्वाइस की कंपनियों और कॉलेजों में जाने में मदद कर सकते हैं। मेंटर्स किसी कार्यक्रम का चयन करने में भी अपने कस्टमर्स की मदद कर सकते हैं या समझा सकते हैं कि वर्तमान कार्यक्रम क्यों उपयुक्त है।


वे कैंडिडेट की थीम की पहचान करने के लिए उसकी उस पृष्ठभूमि को समझते हैं जो किसी इंटरव्यू लेने वाले या एडमिशन देने वाली समिति के लिए सम्मोहक साबित हो। रिज्यूम को रिव्यू करने के बाद, मेंटर्स प्रमुख अनुभवों की पहचान करके उन्हें हाईलाइट करते हैं और फिर उस फॉर्मट पर टैक्टिकल फीडबैक देते हैं। इसके बाद मेंटर्स कैंडिडेट के साथ पूरी तरह से मॉक इंटरव्यू करते हैं, जिसमें वे इस तरह के सवाल पूछते हैं जो इंटरव्यू लेने वाला पूछेगा। फिर वे ये देखते हैं कि उस कैंडिडेट ने क्या जवाब दिया और क्या कहा।





यह मेंटरशिप कैंडिडेट को हायर स्टडी या नौकरियों के लिए आवेदन करने के लिए उनके इंटरव्यू या टेस्ट के लिए तैयार करने में मदद करती है और साथ ही उनके हितों और फोकस क्षेत्रों के आधार पर सलाह और मार्गदर्शन प्राप्त करता है। नकुल कहते हैं, “हमने रणनीतिक रूप से हायर एजुकेशन मार्केट में शुरुआत की क्योंकि यह हमें एमबीए के लिए हाई-क्वालिटी वाले मेंटर्स के अपने आधार का निर्माण करने और बाजार में विश्वसनीयता हासिल करने की अनुमति देता है। इसके बाद हम मेंटरों के इसी बेस का उपयोग करते हुए चुनिंदा हाई-पोटेंशियल कैरियर मेंटरशिप मार्केट्स (परामर्श, बैंकिंग, उत्पाद प्रबंधन आदि) का विस्तार करेंगे।”


आधे घंटे की कोचिंग के लिए व्यक्तिगत मार्गदर्शन की लागत 59 डॉलर है, जिसमें से अधिकांश हिस्सा मेंटर्स को जाता है। MyMBACircle.com GMAT क्लब, ApplicantLab, केस इंटरव्यू और प्रीप्लॉउंज जैसों के साथ प्रतिस्पर्धा करता है। नकुल कहते हैं, "हम अपने प्रतिद्वंद्वियों की तुलना में कुछ अलग पेश करते हैं, क्योंकि हम अंतरराष्ट्रीय आवेदकों के लिए एक मेंटर्स के विशेष समूह के माध्यम से अपील करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।"


नकुल आगे कहते हैं, “हम वैल्यू को प्रदान की गई जानकारी की कॉस्ट, लेवल और क्वालिटी के संयोजन के रूप में परिभाषित करते हैं। हम कस्टमर्स को बेहतर सुविधा प्रदान करते हैं। कैंडीडेट्स को तुरंत किसी आवेदन पर मदद के लिए समय बुक करने की क्षमता, बुकिंग प्रक्रिया में आसानी, और बुकिंग के दौरान जो एफर्ट्स लगते हैं उनमें कस्टमर्स को बेहतर सुविधा देते हैं।"


नंबर का खेल


MyMBACircle.com शिकागो बूथ पर न्यू वेंचर चैलेंज (NVC) का एक हिस्सा है, जो अमेरिका में शीर्ष क्रम के त्वरक (accelerator) कार्यक्रमों में से एक है। केपीएमजी और गूगल की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय एडटेक बाजार 2021 तक 1.96 बिलियन डॉलर को छूने के लिए तैयार है। नकुल कहते हैं, “हम अपने शुरुआती मील के पत्थर को सफल बनाने के लिए 750,000 से 1 मिलियन डॉलर के निवेश की मांग कर रहे हैं।" जब से इसे लॉन्च किया गया है, तब से MyMBACircle.com ने दावा किया है कि उसने सैकड़ों उम्मीदवारों की मदद की और पिछले महीने में उसका राजस्व दोगुना हुआ है (हालांकि वास्तविक संख्या को साझा करने से इनकार कर दिया)।


नकुल आखिर में कहते हैं, “हमने शीर्ष कंपनियों और बी-स्कूलों (एचबीएस, व्हार्टन, बूथ, इनसीड, एलबीएस, आदि) में 25 एडमिशन कराए हैं। हमने पिछले चार महीनों में अपने आधार को तीन गुना बढ़ाकर 60 मेंटर्स तक विस्तारित किया है, जो वर्तमान छात्रों और शीर्ष एमबीए कार्यक्रमों के पूर्व छात्र हैं।" MyMBACircle.com का लक्ष्य 2023 तक ऑपरेटिंग प्रोफिट 10 मिलियन डॉलर तक पहुंचाना है।