'वर्क फ्रॉम होम' कर रहे हो, जानिए घर पर ऑफिस बनाए तो वास्तु कैसा हो?

अपने ऑफिस रूम में अपनी चेयर इस तरह लगाएं कि आपका कार्य करते समय मुख उत्तर या पूर्व की तरफ हो और आपकी पीठ के पीछे ठोस दीवार हो। रूम के दक्षिण-पश्चिम में आपकी टेबल-कुर्सी हो तो सर्वोत्तम है।

कोरोना महामारी के कारण वर्क फ्रॉम होम का चलन काफी बढ़ गया है। कई कंसल्टिंग फर्म्स ने तो अगले जून तक अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की इजाजत दे दी है और अपने ऑफिस बंद कर दिए हैं। कई आईटी फर्म्स ने भी कुछ रोल्स को हमेशा के लिए वर्क फ्रॉम होम कर दिया है। जो काम के बारे में ऐसा समझा जाता था कि वे घर से नहीं किए जा सकते इस महामारी के चलते नियोक्ताओं ने पाया कि उन्हें घर से भी आसानी से किया जा सकता है और इस कठिन समय में ऑफिस का खर्च बचाने के लिए ये कदम उठाए जा रहे हैं।


इसके अतिरिक्त कई व्यवसाय ऐसे हैं जिसमें सालों से घर से काम होता रहा है। डॉक्टर, कंसलटेंट, फैशन डिजाइन, ग्राफ़िक डिजाइन, योग जैसे कई व्यवसाय हैं जो हमेशा से ही घर से होते आए हैं।

क

सांकेतिक फोटो (साभार: shutterstock)

जब आप घर से काम कर रहे हैं तो आपको अपना कार्य पूर्ण क्षमता से करने के लिए उपयुक्त वातावरण बनाना बहुत आवश्यक है। वैसे भी घर पर पूर्ण लगन से कार्य करना मुश्किल हो जाता है, क्योंकि घर में चल रही नाना प्रकार की गतिविधिओं के कारण फोकस नहीं बन पाता है। ऐसे समय अगर आप बिस्तर पर बैठ कर, सोफे पर लेट कर या अपने बेडरूम से काम कर रहे हैं तो और मुश्किल हो जाती है।


घर में एक आदर्श ऑफिस तभी बनता है जब उसके लिए एक अलग रूम हो। ऐसे समय आप एक उपयुक्त वातावरण बना सकते हैं जो आपको अपनी पूर्ण क्षमता से कार्य करने में सहायक बने। जैसे अगर आपके घर में एक अलग स्टडी रूम आप ने बनाया है तो उसको इस लेख में दिए तरीके से सज्जित करने से आप एक आदर्श ऑफिस बना सकते हैं।


अपने ऑफिस रूम में अपनी चेयर इस तरह लगाएं कि आपका कार्य करते समय मुख उत्तर या पूर्व की तरफ हो और आपकी पीठ के पीछे ठोस दीवार हो। रूम के दक्षिण-पश्चिम में आपकी टेबल-कुर्सी हो तो सर्वोत्तम है। कमरे में पर्याप्त रोशनी हो और अगर प्राकृतिक प्रकाश उसमें आता हो तो आपकी कार्य करने की क्षमता निश्चित ही बढ़ जाएगी।


अगर रूम की बनावट ऐसे है कि दक्षिण-पश्चिम में टेबल नहीं लगा सकते तो आप उसे उत्तर-पूर्व या उत्तर-पश्चिम में भी लगा सकते हैं। जब उत्तर-पूर्व में लगाएं तो आपका मुख पश्चिम की तरफ हो सकता है। आपकी टेबल चौकोर या आयताकार ही होना चाहिए, अनियमित आकार या एल-शेप की टेबल वास्तु अनुसार अच्छी नहीं मानी गई है। इस रूम के उत्तरपूर्व में एक छोटा सा झरना लगाना भी आपको फोकस करने में सहायक होता है।

सामान्यतः कई घरों में एक अलग कमरा जिसमें ऑफिस बनाया जा सके संभव नहीं होता, ऐसे समय बेडरूम का एक कोने को ही ऑफिस में बदलने की सुविधा होती है। आइए अब समझते हैं कि ऐसी स्थिति में क्या करें। जब आप अपने बेडरूम के एक कोने में ऑफिस टेबल रखते हैं तो व्यवाहरिक तौर पर आपको टेबल दीवार से सटा कर रखनी पड़ती है और आपको दीवार की तरफ ही मुख कर के बैठना पड़ता है। ऐसे में भी आपका मुख उत्तर या पूर्व दिशा की और होना चाहिए।

k

सांकेतिक फोटो (साभार: shutterstock)

अपने सामने की दीवार पर एक विज़न बोर्ड लगा सकते हैं जिसमें आप अपने व्यवसाय में क्या मुकाम हासिल करना चाहते हैं उसको दर्शाते चित्र लगा सकते हैं या किसी आदर्श व्यक्ति का चित्र भी लगा सकते हैं जिसको देखने से आपको उत्कृष्ट कार्य करने की प्रेरणा निरंतर मिलती रहे।


चाहे आपने अपना ऑफिस एक अलग कमरे में बनाया है या अपने बेडरूम के हिस्से में बनाया हो, दोनों ही परिस्थिति में आप अपनी टेबल पर कोई देवी देवता की मूरत या तस्वीर ना रखें। अपने ऑफिस में सिर्फ प्राकृतिक सौन्दर्यता दर्शाते चित्र लगाएं, खास तौर पर निराकार चित्र (एबस्ट्रेक्ट आर्ट) ना लगाएं।


घर में ऑफिस का कार्य करते समय आप वैसे ही तैयार हो जैसे ऑफिस जाते समय होते हैं। जैसे जब आप ऑफिस जाते हैं तो पेंट-शर्ट, बेल्ट, जूते, घडी पहनते हैं। वैसे ही जब आप तैयार होकर अपने होम-ऑफिस में बैठेंगे तो आपका अवचेतन मन आपको पूर्ण लगन के साथ कार्य करने की प्रेरणा देगा।



आचार्य मनोज श्रीवास्तव ऐसे वास्तु कंसलटेंट और ज्योतिषी हैं जिनको बीस साल से ज्यादा का कॉर्पोरेट लीडरशिप का अनुभव है। वे पूर्व में एयरटेल, रिलायंस और एमटीएस जैसे बड़े कॉर्पोरेट हाउस में वरिष्ठ पदों पर कार्यरत रहे हैं। आजकल वे पूर्ण रूप से एक वास्तु कंसलटेंट और ज्योतिषी के रूप में अपनी सेवाएँ दे रहे हैं।


अपने सवाल और सुझाव के लिये आप भी इनसे जुड़ सकते हैं : +91-9136001697, +91-7827892886